गीता नगर व्यवसायी हत्याकांड में नया मोड़


गुवाहाटी : गीतानगर व्यवसायी हत्याकांड में उस वक्त नया मोड़ आया जब पुलिस ने पूछताछ के लिए व्यवसायी कौशिक बसु के बड़े बेटे को हिरासत में लिया। कौशिक बसु के परिजनों ने घटना को डकैती बताया था लेकिन पुलिस की छानबीन से इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई कि कोई बाहरी व्यक्ति घटना के समय घर में घुसा था। पुलिस ने शक के आधार पर कौशिक के बड़े बेटे कृृशांकु बसु से गीतानगर थाने में चार घंटे तक पूछताछ की।

मालूम हो कि अय्याश प्रवृति के कृृशांकु की अपने पिता कौशिक से पहले भी नहीं बनती थी। अपने बेटे के खिलाफ उन्होंने गीतानगर थाने में घर से नकदी व आभूषण चोरी का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया था। जिसके चलते कृृशांकु को कुछ दिनों की जेल भी हुई थी। यही नहीं बाप-बेटे की कहा-सुनी के बाद कृृशांकु ने गुस्से में आकर अपने पालतू कुत्ते को भी बेच दिया था।

पुलिस के साथ-साथ कौशिक के अच्छे मित्रों में से एक मित्र भी घटना को एक सोची-समझी हत्या मान रहे हैं। पुलिस कमिश्नर हिरेन चंद्रनाथ ने कहा कि इस घटना में पुलिस सही दिशा में आगे बढ़ रही है। बहुत जल्द दोषी पकड़े जाएंगे। उल्लेखनीय है कि मंगलवार की रात गीतानगर इलाके में आरकेबी रेजिडेंसी में किराए पर रह रहे कौशिक बसु के घर में बदमाशों ने घुसकर उनकी हत्या कर दी थी। परिजनों के अनुसार हत्या के बाद बदमाश नकदी व अन्य कीमती सामान लूटकर फरार हो गए। घटना के समय अपने घर में अकेले कौशिक की आठ गांव में मोटर पाट्र्स की दुकान है।