सूअरों की मौत क्लासिकल स्वाइन फ्लू के कारण हुई


एजल, (भाषा): मिजोरम-म्यामां सीमा पर चम्पाई जिले में बैते गांव में क्लासिकल स्वाइन फ्लू के कारण कम से कम 35 सूअरों और उनके बच्चों की मौत हो गयी है। राज्य पशुपालन और पशु चिकित्सा विभाग के निदेशक डा. साईंगुरा साइलो ने कहा, प्रयोगशाला में हुये परीक्षणों से पुष्टि हुयी है कि सूअरों की मौत क्लासिकल स्वाइन फ्लू के कारण हुई न कि पोर्सिन रिप्रोडक्टिव एंड रिस्प्ररटोरी सिंड्रोम (पीआरआरएस) के चलते।

उन्होंने बताया कि ये परीक्षण एजल के निकट सेलेसिह में वेटनरी साइंस एंड एनिमल हसबैंडरी कॉलेज में किया गया। साइलो ने पुष्टि की कि चम्पाई शहर और बैते गांव में क्लासिकल स्वाइन फ्लू फैला। बैते गांव के यंग मिजो एसोसिएशन (वाईएमए) के नेता रेमकुंगा ने बताया कि चिकित्सा उपचार से पहले ही सूअरों की मौत हो गयी थी। उन्होंने बताया, बीमारी न फैल जाए इसलिए सभी मरे सूअरों और उनके बच्चों को जमीन में दफन कर दिया गया है।