राजनीति से ऊपर है राष्ट्रपति पद


इटानगर, (भाषा):राष्ट्रपति पद के राजग उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने आज कहा कि राष्ट्रपति का पद राजनीति से परे है एवं उनका प्रयास देश की समृद्धि में सभी राज्यों को शामिल करना होगा। कोविंद ने यहां भाजपा विधायकों से कहा कि राष्ट्रपति कभी किसी पार्टी का नहीं होता। जाति, धर्म और संप्रदाय, राज्य से इतर सभी लोग समान हैं। मेरे लिए वोट बैंक नहीं बल्कि विकास महत्व रखता है।

कोविंद अरुणाचल प्रदेश के विधायकों का समर्थन हासिल करने के लिए केंद्रीय मंत्रियों नरेंद्र सिंह तोमर और किरेन रिजिजू, भाजपा महासचिव राम माधव, लोकसभा सांसद रामविचार नेताम एवं पूर्वाेत्तर जनतांत्रिक गठबंधन (नेडा) के संयोजक हिमंता विश्वा शर्मा के साथ एक दिन के दौरे पर यहां पहुंचे। उन्होंने कहा कि विकसित भारत और सभी वर्गों के लोगों के लिए समान विकास उनका सपना है।

राज्यों और लोगों में समानता का ही मंत्र होना चाहिए, ताकि देश का विकास हो। उन्होंने कहा, “समृद्ध सांस्कृतिक विरासत वाला अरुणाचल प्रदेश छोटा राज्य हो सकता है लेकिन मेरे लिए उत्तर प्रदेश और देश के राज्यों के समान ही यह महत्वपूर्ण है। कोविंद ने साथ ही कहा कि राजग सरकार के दौरान पूर्वाेत्तर के लोगों के अलगाव की भावना खत्म हो गयी है।” राजग उम्मीदवार ने पीपुल्स पार्टी ऑफ अरुणाचल (पीपीए) के नौ विधायकों के साथ अलग बैठक की। यह नेडा का घटक दल है।