दार्जिलिंग में आगजनी जारी, पंचायत कार्यालय व सरकारी वाहन जलाए


दार्जिलिंग, (पश्चिम बंगाल), (भाषा): अलग राज्य की मांग को लेकर जीजेएम नीत अनिश्चितकालीन बंद के आज 31 वें दिन भी जारी रहने के बीच दार्जीलिंग के कुर्सियांग में एक पंचायत भवन को आग के हवाले कर दिया गया और एक सरकारी वाहन को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। कुर्सियांग कस्बे में दोपहर के वक्त बड़े पैमाने पर हिंसा और तोडफ़ोड़ की घटना हुई जबकि सेना दार्जीलिंग, सोनादा और कलिमपोंग में बनी रही।

सोमवार रात कलिमपोंग में करीब 50 सैनिकों की एक टुकड़ी तैनात की गई थी जबकि दो टुकडिय़ों को पिछले हफ्ते शनिवार को दार्जीलिंग और सोनादा भेजा गया था। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवाओं पर प्रतिबंध 18 जून तक के लिए बढ़ा दिया है। प्रतिबंध 18 जून को लगाया गया था। इस बीच गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) ने पश्चिम बंगाल सरकार के इस आरोप को खारिज कर दिया कि इसकी माओवादियों के साथ साठगांठ है और इसे उससे मदद मिल रही है।

जीजेएम युवा शाखा प्रमुख प्रकाश गुरूंग ने संवाददाताओं से कहा-माओवादियों से मदद लेने के हमारे खिलाफ लगे आरोप पूरी तरह से झूठे हैं। हम आरोप की जांच करने की राज्य सरकार को चुनौती देते हैं। उन्होंने राज्य सरकार और पुलिस पर पर्वतीय क्षेत्र में मानवाधिकारों का उल्लंघन करने का आरोप भी लगाया।

इससे पहले दिन में जीजेएम समर्थकों ने चौकबाजार इलाके में रैली निकाली और अलग गोरखालैंड के समर्थन में नारे लगाए। कई राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने पारंपरिक नेपाली वेशभूषा में जुलूस भी निकाला। वहीं, पुलिस और सुरक्षा बलों ने सड़कों पर गश्त की। दवा दुकानों के अलावा अन्य सभी दुकानें, रेस्तरां, होटल, स्कूल और कॉलेज बंद रहें।