सं.रा. में सम्मानित हुई ममता


हेग (नीदरलैंड) : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज यहां संयुक्त राष्ट्र लोक सेवा पुरस्कार से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार राज्य के सबसे गरीब और संवेदनशील क्षेत्रों में पहुंच के लिये सरकार के कन्याश्री प्रकल्पा कार्यक्रम को मिला।इस वर्ष लोक सेवा समारोह की थीम ‘दी फ्यूचर इज नाऊ : एस्सेलेरेटिंग पब्लिक सर्विस इन्नोवेशन फोर एजेंडा 2030’ है।

समारोह में दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से पांच सौ से अधिक प्रतिनिधि शामिल हुए।63 देशों से 552 परियोजनाओं में से कन्याश्री योजना को प्रथम चुना गया। यह पुरस्कार पश्चिम बंगाल सरकार की सार्वजनिक सेवाओं में नवीनता और उत्कृष्टता के लिये दिया गया। सतत् विकास के लिये सरकार ने 2030 एजैंडे को लागू किया है।

इस मौके पर सुश्री बनर्जी ने कहा कि विश्व भर में संयुक्त राष्ट्र द्वारा लोक सेवा दिवस मनाया जाता है। उन्होंने कहा, ‘बंगाल में विकास परियोजनाओं से सार्वजनिक सेवा के क्षेत्र में एक नए युग की शुरुआत हुई है। यह वास्तव में एक गर्व का विषय है कि हमारी योजनाओं को उच्चतम स्तर यानी संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता मिली।’

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक सेवा का मतलब लगातार निगरानी करना, और लोगों के लिए नियमित सेवा प्रदान करना। सुश्री बनर्जी ने कहा, ‘मैंने 300 से अधिक प्रशासनिक समीक्षा बैठकों में भाग लिया है, जहां हम ब्लॉक-स्तर के अधिकारी सहित सभी सार्वजनिक प्रतिनिधियों से मिलते हैं। इस बैठक से जवाबदेही, पारदर्शिता और सतत् विकास कार्य को तय कर हम अपने लक्ष्यों में से 100 प्रतिशत प्राप्त करते हैं।’