स्कूल की 88 लड़कियों को टीचर्स ने कपड़े उतारने पर किया मजबूर


Schools girls

स्कूलों में छात्र-छात्रओं के साथ दुर्व्यवहार के कई मामले सामने आते रहते हैं। कभी शिक्षकों की तरफ से छात्रों को बेरहमी पीटे जाने का मामला हो या छात्राओं को अपशब्द कहने का या फिर यौन उत्पीड़न का मामला हो, समय-समय पर यह मीडिया की सु​र्खियां बनती हैं लेकिन इस बार अरुणाचल प्रदेश के एक गर्ल्स स्कूल से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे पढ़कर आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि क्या स्कूलों में छात्राओं के साथ इस तरह का दुर्व्यवहार किया जा सकता है।

दरअसल, अरुणाचल प्रदेश के एक गर्ल्स स्कूल में शिक्षकों ने कक्षा छठी और सातवीं की 88 छात्राओं के कपड़े उतरवा दिए और इसके पीछे की वजह थी कि किसी छात्रा के पास से एक चिट मिली थी जिसमें छात्रा ने प्रधानाध्यापक के खिलाफ कुछ अपशब्द लिखे थे। यह घटना पापुम पारे ज़िले के कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में हुई। स्थानीय पुलिस के मुताबिक घटना 23 नवंबर की है लेकिन 27 नवंबर को छात्रों ने इस की जानकारी जिले की स्टूडेंट यूनियन को दी जिसके बाद स्टूडेंट यूनियन ने एफआईआर दर्ज करवाई।

पीड़िता के अनुसार अपशब्द लिखे पर्चे को ढ़ूंढ़ने के दौरान दो अस्सिटेंट टीचर और एक सीनियर टीचर ने छठी और सातवीं की 88 छात्राओं को कपड़े उतारने पर मजबूर किया। पापुम पारे जिला के पुलिस अधीक्षक ने इस बात पुष्टि की है कि स्कूल में छात्राओं के साथ हुए दुर्व्यवहार के मामले में एक एफआईआर दर्ज की गयी है। उन्होंने बताया कि मामला गर्ल्स स्कूल से जुड़ा है इसलिए इसे महिला पुलिस स्टेशन भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। साथ ही स्कूल के दूसरे टीचरों ने ऐसा करने वाले टीचर को बर्खास्त करने की अपील की है।