मेघालय मंत्रिमंडल में दो नए मंत्री शामिल


शिलांग, (आईएएनएस): अपने दो वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में बर्खास्त करने के एक दिन बाद मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने शुक्रवार को दो कांग्रेस विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया। मंत्रिमंडल में फेरबदल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले हो रहा है। राज्य में फरवरी-मार्च 2018 में विधानसभा चुनाव निर्धारित हैं। राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने राजभवन में आयोजित एक सादे समारोह में सी. योम्बोन व सी. लिंगदोह को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। कांग्रेस को 2013 विधानसभा चुनावों में भारी जीत मिलने और मुख्यमंत्री की शपथ ग्रहण के बाद से यह दूसरी बार है कि संगमा ने कैबिनेट में नए मंत्रियों को शामिल किया है।

संगमा ने अप्रैल 2016 में अपने खिलाफ विद्रोह शांत करने के लिए दो कांग्रेस विधायकों मार्टिन एम. डंगो व रोनी वी. लिंगदोह को मंत्रिमंडल में शामिल किया था। सामुदायिक और ग्रामीण विकास मंत्री प्रेस्टोन तेनसांग व ऊर्जा मंत्री स्नेवाभालांग धर को कांग्रेस की अगुवाई वाले मेघालय युनाटेड एलायंस सरकार से ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों और 2018 विधानसभा चुनावों में नेशनल पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लडऩे की उनकी योजना के कारण’ बर्खास्त कर दिया गया।

लेकिन संगमा ने कहा कि तेनसांग व धर को पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण बर्खास्त नहीं किया गया है, कैबिनेट में फेरबदल का मकसद उनकी सेवा का इस्तेमाल करना है। संगमा ने पत्रकारों से कहा, ”मुझे अच्छा लगेगा अगर मुझसे अन्य मंत्री कहें कि उन्हें मंत्रालय से अलग कर दिया जाए ताकि वे अपने निर्वाचन क्षेत्र पर ध्यान दे सकें।” नए मंत्रियों ने कहा कि वे मुख्यमंत्री की लोगों के हित में सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने में मदद करेंगे।

कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि दोनों मंत्रियों को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की संगमा व मेघालय कांग्रेस अध्यक्ष डी.डी. लपांग से सोमवार की मुलाकात के बाद हटाया गया, जिसमें राज्य की राजनीतिक स्थिति की समीक्षा की गई। यह पूछे जाने पर कि क्या वे कांग्रेस छोड़कर लोकसभा सदस्य कोनार्ड के. संगमा के एनपीपी में शामिल होंगे तेनसांग ने कहा, ”अभी भी मैं कांग्रेस का विधायक हूं। अपने सहयोगियों को मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए रास्ता बनाना पार्टी विरोधी गतिविधि नहीं है बल्कि यह पार्टी के हित में है।”