जम्मू & कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के राज्य में खूनखराबे के अंत के लिए पाकिस्तान के साथ बातचीत का आह्वान करने के एक दिन बाद आज भाजपा ने कहा कि ऐसे समय में बातचीत उपयुक्त नहीं है जब पड़ोसी देश आतंकी हमलों में ‘‘मदद कर रहा है।’’

जम्मू-कश्मीर भाजपा के प्रवक्ता सुनील सेठी ने मीडिया से कहा की गोलियों की शोर और रक्तपात के बीच एक वर्ग पाकिस्तान और भारत के बीच बातचीत की वकालत कर रहा है जोकि ऐसे समय में उपयुक्त नहीं है जब पाकिस्तान खुलकर राज्य में आतंकी हमले में मदद कर रहा है।’’

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के साथ बातचीत का फैसला केंद्र करता है और दूसरों के हस्तक्षेप के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।

सेठी ने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में विध्वंसक गतिविधियां ‘‘खत्म करता है’’ और माहौल अनुकूल होता है तो बातचीत पर विचार किया जा सकता है।

गौरतलब है कि महबूबा ने कल राज्य विधानसभा में कहा था, ‘‘अगर फारूक अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती कहती हैं कि पाकिस्तान के साथ बातचीत की जाए तो उन्हें राष्ट्रविरोधी करार दिया जाता है। बातचीत के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। अगर हम इसकी बात नहीं करेंगे तो कौन करेगा? बिहारी या पंजाबी तो करेंगे नही ?’’

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।