भोपाल : गुजरात के कांग्रेस विधायक एवं ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर ने कहा कि मध्यप्रदेश में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा को हराने के लिए हाल ही में हुए गुजरात विधानसभा चुनाव की तर्ज पर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी)के लोगों को एकजुट किया जाएगा।

अल्पेश ने बताया, ‘‘देश में सरकारी नौकरियों में ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण है लेकिन इसके बावजूद वे अब भी पिछड़े हुए हैं और अपने संवैधानिक अधिकारों से वंचित हैं। मध्यप्रदेश में भी पिछड़ा समुदाय वंचित है। हम तीन महीनों के अंदर मध्यप्रदेश में ओबीसी, एससी, एसटी एवं अल्पसंख्यकों का एक बड़ा सम्मेलन करेंगे।’’ उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के 29विधानसभा क्षेत्रों में स्थानीय ओबीसी युवाओं का संगठन तैयार हो चुका है और अगले छह माह में प्रदेश के बाकी बचे हुए 201 विधानसभा क्षेत्रों में भी ओबीसी युवाओं का संगठन बना लिया जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए अल्पेश ने कहा, ‘‘जब मोदीजी वोट के लिए जनता से अपील करते हैं, तब अपने आप को ओबीसी समुदाय का बताते हैं। लेकिन चुनाव जीतने के बाद ओबीसी समुदाय को भूल जाते हैं।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘मोदी ने ओबीसी समुदाय के लोगों के लिए कुछ भी नहीं किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब ओबीसी समुदाय के युवा भी राजनीति में सक्रिय भूमिका निभाएंगे, क्योंकि उनके ही नेताओं के कारण वे पिछड़े हुए हैं।’’ भाजपा नेताओं पर घमंडी होने का आरोप लगाते हुए अल्पेश ने बताया कि ओबीसी समुदाय के लोग अब भाजपा का साथ नहीं देंगे।

शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि यहां पर पिछड़ी जाति का कोई विकास नहीं हो रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम पिछड़ी जातियों के हक और अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ते रहेंगे। अल्पेश ने बताया कि इस साल मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के घोषणा पत्र में ओबीसी, एससी एवं एसटी के विकास के बिंदु भी शामिल होंगे।

पकौड़ा बेचने को नौकरियों का सृजन बताये जाने वाले मोदी के हाल ही के बयान पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी चाहते हैं कि गरीब और गरीब हो जाये और इसीलिए उच्च शैक्षणिक संस्थाओं से डिग्री प्राप्त युवाओं को पकौड़े बेचने की नसीहत दे रहे हैं। अल्पेश ने दावा किया कि देश में वर्तमान में 12करोड़ युवा बेरोजगार हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।