उमर फारूक किया नजरबंद, गिलानी को फिर राहत नहीं


Mirwaiz Molvi

श्रीनगर : मीरवाइज मौलवी उमर फारूक को आज एक बार फिर दुख्तरान-ए-मिल्लत की अध्यक्ष आसिया अंद्राबी पर जन सुरक्षा कानून के तहत FIR करने के खिलाफ मार्च निकालने से रोकने के लिए आज तड़के से नजरबंद कर दिया गया।
संगठन के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी लगभग एक साल से नजरबंद हैं उन्हें फिलहाल कोई राहत मिलने की उम्मीद नजर नहीं आ रही है।

संगठन के प्रवक्ता शहीदुल इस्लाम ने  बताया कि फज, की नमाज के तुरंत बाद मीरवाइज के नाइगीन स्थित निवास के बाहर बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों और पुलिस के जवान तैनात कर दिये गये। इसके बाद मीरवाइज को बताया गया कि उन्हें नजरबंद कर लिया गया है लिहाजा वह अगले आदेश तक बाहर नहीं निकल सकते।

शहीदुल इस्लाम ने बताया कि मीरवाइज ऐतिहासिक जामिया मस्जिद में जुमे की नमाज के बाद लोगों को संबोधित करने वाले थे और उसके बाद शांतिपूर्ण जुलूस का नेतृत्व करने वाले थे। उन्हें गत 17 मई को भी नजरबंद किया गया था लेकिन उसी रात को नजरबंदी हटा भी ली गयी।

हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों धड़े और जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट अक्सर घाटी में जुमे की नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन का आह्वान करते हैं। इसी के मद्देनजर मीरवाइज को नजरबंद किया गया है।