राष्ट्रपति के भाषण को लेकर संसद में मचा बवाल


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के शपथ लेने के बाद पहले भाषण पर कांग्रेसी सांसदों का हंगामा जारी है। बुधवार को राज्यसभा में कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के भाषण का मुद्दा उठाया। आनंद शर्मा ने भाषण में दीनदयाल उपाध्याय की महात्मा गांधी से तुलना करने पर सवाल किया।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ने महात्मा गांधी और पंडित जवाहरलाल नेहरू का अपमान किया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शपथग्रहण बाद देश को संबोधित करते हुए अपने भाषण में कहा था, ‘एक ऐसा समाज, जिसकी कल्पना महात्मा गांधी और दीनदयाल उपाध्याय जी ने की थी हमारे मानवीय मूल्यों के लिए भी महत्वपूर्ण है।‘

Source

इसके जवाब में अरुण जेटली भड़क गए और आनंद शर्मा के साथ उनकी नोक-झोंक हो गई। इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ऐसा कैसे हो सकता है कि कोई सदस्य राष्ट्रपति के भाषण पर सवाल खड़ा कर सकता है। अरुण जेटली ने आनंद शर्मा के बयान को हटाने की मांग की है।

वहीं जेटली ने कहा कि विपक्ष इस प्रकार के मुद्दे टीवी पर आने के लिए उठाता है। जिसपर विपक्ष ने काफी हंगामा किया। बता दें कि राष्ट्रपति कोविंद ने अपने संबोधन में महात्मा गांधी, दीनदयाल उपाध्याय, राजेंद्र प्रसाद, राधाकृष्णन, एपीजे कलाम और प्रणब मुखर्जी का नाम लिया था।