दार्जिलिंग में हड़ताल का 30वां दिन, आरपीएफ कार्यालय, पुलिस चौकी लगायी आग


दार्जिलिंग (पश्चिम बंगाल) : यहां पृथक एक राज्य की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल आज 30 दिन में प्रवेश कर गयी। साथ ही दार्जिलिंग में एक रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) कार्यालय, एक पुलिस चौकी और एक सरकारी पुस्तकालय में आग लगा दी गयी। पुलिस ने बताया कि इंटरनेट सेवा आज 27 दिन भी ठप्प है।

Source

एमजीसीसी ने 15 जुलाई से अनशन नहीं करने का निर्णय लिया
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गोरखालैंड समर्थकों ने कल रात कुरसेओंग में आरपीएफ कार्यालय और सुखियापोचखरी में एक पुलिस चौकी में आग लगा दी गयी जबकि मिरिक उप संभाग में एक सरकारी पुस्तकालय में आज तड़के आग लगा दी गयी। दार्जिलिंग, कलीमपोंग और सोनदा में सेना को तैनात किया गया है। गोरखालैंड मूवमेंट को-ऑडिनेशन कमेटी (एमजीसीसी) ने आगामी राष्ट्रपति चुनाव के कारण 15 जुलाई से आमरण अनशन नहीं करने का निर्णय लिया है।

source

18 जुलाई को होगी अगली सर्वदलीय बैठक
जीएसीसी के एक सदस्य ने बताया, “राष्ट्रपति चुनाव के नजदीक होने के कारण हमने आमरण अनशन नहीं करने का निर्णय लिया है। इस बारे में हम 18 जुलाई को होने वाले अगली सर्वदलीय बैठक में निर्णय लेंगे।” उल्लेखनीय है कि 30 सदस्यीय जीएमसीसी में जीजेएम और जीएनएलएफ और जेएपी) सहित पहाड़ी की सभी पार्टियों के प्रतिनिधि शामिल हैं।