धनबाद-चन्द्रपुरा रेल लाइन का बनेगा डायवर्सन


रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास से धनबाद के जनप्रतिनिधियों ने झारखंड मंत्रालय में धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंद होने और झरिया पुनर्वास के मुद्दे पर मुलाकात की। मुलाकात के क्रम में रेल के वैकल्पिक रूट और झरिया पुनर्वास पर विस्तार से चर्चा हुई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ए.के. मित्तल से फोन पर बातचीत की। मित्तल ने बताया कि धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन का डाइवर्सन बनाया जायेगा। इसके लिए सर्वे का काम राइट्स को दिया गया है।

15 दिन बाद एक टीम पूरे क्षेत्र का दौरा करेगी। बैठक में झरिया पुनर्वास के मामले पर बताया गया कि झरिया की नयी टाउनशीप बनायी जायेगी। बेवजह यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि पूरी झरिया शिफ्ट हो रही है। अभी एक हजार परिवार को राज्य सरकार और एक हजार परिवार को बी.सी.सी.एल. द्वारा बसाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। नयी टाउनशीप बनने के बाद झरिया को शिफ्ट कराया जायेगा।

इस टाउनशीप में स्कूल, टाउनहॉल, मार्केट, पार्क आदि की सुविधा होगी।मुख्यमंत्री ने निदेश दिया कि झरिया पुनर्वास एवं विकास प्राधिकार, धनबाद द्वारा तैयार 992 आवासों को अग्नि प्रभावित के मध्य प्राथमिकता के आधार पर आवंटन करें। बी.सी.सी.एल. के अधिकारियों ने बताया कि झरिया का आग प्रभावित क्षेत्र के लोगों को आवास आवंटित कर शिफ्ट किया जा रहा है। रेलवे के द्वारा अग्नि क्षेत्र के बाहर नयी रेल लाइन का निर्माण किया जायेगा।

बस्ताकोला व लोदना के लिए 300-300, पूर्वी झरिया, पी.बी. क्षेत्र, सिजुआ व कुसुण्डा क्षेत्र के लिए 100-100 आवास चिह्नित किये गये हैं। बैठक में धनबाद के सांसद पी.एन. सिंह, विधायक राज सिन्हा, बाघमारा के विधायक ढुल्लू महतो, सिंदरी के विधायक फूलचंद मंडल, झरिया की पूर्व विधायक श्रीमती कुंती देवी, धनबाद भाजपा जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह समेत कई जनप्रतिनिधि मौजूद थे।