‘मेक इन इंडिया’ बनी ‘सेल इन इंडिया’


धनबाद,(वार्ता): माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) की पोलित ब्यूरो सदस्य वृंदा करात ने महत्वकांक्षी ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम को लेकर केन्द्र की नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि केंद्र की यह योजना ‘सेल इन इंडिया’ बन चुकी है जिसका ज्यादा प्रभाव आने वाले दिनों में झारखण्ड में देखने को मिलेगा।  श्री करात ने यहां पत्रकार सम्मेलन में कहा कि मेक इन इंडिया के कार्यक्रम के नाम पर जल, जंगल और जमीन से राज्य के हजारों-लाखों आदिवासियों को बेदखल किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र की नीतियों के खिलाफ उनकी पार्टी 15 अगस्त से सितम्बर माह तक पूरे देश में आजादी बचाओ-जनवाद बचाओ एवं विरासत बचाव संघर्ष अभियान चलाएगी। इसके तहत किसान, मजदूरों के ज्वलंत मुद्दों के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार की विभाजनकारी नीति के खिलाफ देशव्यापी आन्दोलन चलाया जाएगा। उन्होंने केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केन्द्र में जब से भाजपा की सरकार बनी है तब से देश की जनता में भय व्याप्त है।

एक सवाल के जवाब में श्रीमती करात ने कहा कि केरल में केंद्र के माध्यम से राज्य सरकार को ब्लैकमेल कर रही है। भाजपा अपने कार्यकर्ताओं की हत्या का आरोप राज्य सरकार पर लगाती है जबकि वहां भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं से अधिक वामपंथी दल के कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है। माकपा नेता ने कहा कि राज्य सरकारें अपना काम कर रही है, लेकिन देश के जिन राज्यों में भाजपा या भाजपा समर्थित पार्टियों की सरकारें नहीं हैं, केन्द्र सरकार वहां की सरकारों को डराने घमकाने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में दलित, अल्पसंख्यकों की हत्याएं और उनपर अत्याचार चरम पर है। एक ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गौ रक्षकों की गुंडागर्दी पर रोक लगाने की बात कर रहे हैं, दूसरी ओर उन्हीं की पार्टी के नेतृत्व में गौ तस्करी करने वालों को संरक्षण देने का काम किया जा रहा है। श्रीमती करात ने चीन के मुद्दे पर कहा,’सरकार के बयान से हमारी पार्टी सहमत है, जिसमें कहा गया है कि किसी भी समस्या का हल बातचीत के माध्यम से निकाला जाना चाहिए।’