सिद्धारमैया ने RSS को बताया आतंकवादी , BJP ने दिया जवाब, कहा – ये 1975 नहीं है और न ही हैं इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री


Siddaramaiah

कर्नाटक में बीजेपी और कांग्रेस के बीच तकरार बढ़ती ही जा रही है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया लगातार बीजेपी पर हमला बोल रहे हैं तो बीजेपी भी करारा पलटवार कर रही है। आपको बता दे कि बुधवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी (NIA) लगातार पीएफआई को निशाना बना रही है उनके 5 लोगों पर चार्जशीट दायर की गई है।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने RSS और बजरंग दल को निशाना साधते हुए कहा कि , क्या सरकार PFI को बैन कर रही है ? तो अगर ऐसा है तो RSS और बजरंग दल भी आतंकवादी हैं। कोई भी कानून से ऊपर नहीं है।

मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा कि जो भी कानून का उल्लंघन करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। चाहे वो आरएसएस हो, वीएचपी हो या फिर बजरंग दल।

वही , बीजेपी ने पलटवार में ट्वीट में लिखा गया कि उन्हें समझना चाहिए कि ये 1975 नहीं है और आज इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री नहीं हैं।

आपको बता दे कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अभी कर्नाटक में ही है जहां वो कर्नाटक में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अमित शाह अपने चुनावी अभियान में जुट गए हैं

इससे पहले उत्तर प्रदेश के अपने समकक्ष योगी आदित्यनाथ पर प्रहार करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने सोमवार को उन्हें ‘जंगल राज’ मुख्यमंत्री करार दिया। दोनों ने ट्विटर के जरिए एक दूसरे पर निशाना साधा और दोनों की यह जंग इंटरनेट पर वायरल हो गई है।

अपनी हिंदू पहचान पर बल दिए जाने को लेकर योगी के निशाने पर आने के एक दिन बाद सिद्धारमैया ने ट्विटर पर कहा कि हमारा जो हिंदुत्व है वह स्वामी विवेकानंद की विरासत है न कि नाथूराम गोडसे की। गौहत्या पर पाबंदी के संबंध में हमें उपदेश देने से पहले मुख्यमंत्री योगी पढ़ें कि विवेकानंद ने क्या कहा है।

योगी ने रविवार को भाजपा की कर्नाटक इकाई द्वारा आयोजित ‘नव कर्नाटक परिवर्तन यात्रा’ में सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए कहा था कि वह अब हिंदू जड़ों को याद कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जिस तरह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान मंदिर मंदिर गए उसी तरह सिद्धारमैया खुद को हिंदू कहते हैं, लेकिन ‘अपने आप को हिंदू कहना भर काफी नहीं होगा जब तक वह गोमांस भक्षण को सही ठहराते हैं।’

योगी का स्वागत करते हुए सिद्धारमैया ने ट्वीट किया कि योगी उत्तर प्रदेश में भुखमरी से होने वाली मौतों से निपटने के लिए कर्नाटक से बहुत कुछ सीख सकते हैं।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अख़बार।