ओवैसी ने किया PM मोदी के लिए अभद्र भाषा का प्रयोग


ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर विवादास्पद बयान दिया है। अकबरुद्दीन ने प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। अकबरुद्दीन ने कहा कि मोदी संसद भवन में मुस्लिमों की बर्बादी के कानून बनते हैं।

अकबरुद्दीन ओवैसी ने कहा, “ऐ विश्व हिन्दू परिषद वालों, ऐ बजरंग दल वालों, ऐ नरेंद्र मोदी सुन ले ये मुल्क तेरे बाप की जागीर नहीं है, जितना ये मुल्क तेरा है उतना ही ये मुल्क मेरा भी है। अगर एक हिन्दू माथे पर तिलक लगा कर घूम सकता है तो मैं एक मुसलमान होकर अपने सिर पर टोपी पहनना गुनाह है क्या? मुसलमान होना गुनाह है क्या? ओ विश्व हिंदू परिषद वालो, आरएसएस वालो, नरेंद्र मोदी सुन लो ये मुल्क किसी एक का नहीं। ये जितना तेरा है, मुल्क मेरा भी है।

अगर हिंदू तिलक लगाकर घूम सकता है तो मुसलमान भी टोपी पहन सकता है, दाढ़ी भी रख सकता है। अकबरुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा, ”मेरे प्यारे मुसलमानों समझो, मुल्क किधर जा रहा है ? अगर आज भी हम एक नहीं होंगे तो कैसे होगा, हम बार बार कहते रहे इत्तेहाद (गठबंधन) इत्तेहाद, इत्तेहाद क्यों कहते हैं? इसलिए कहते हैं क्योंकि मुसलमानों की तबाही और बर्बादी के कानून, बाजारों चौराहो या मैदानों में नहीं बनते, ये संसद या असेंबली में बनते हैं।

अरे अगर मुसलमान एक हो जाएं तो मैं जानता हूं कि किसी की मदद किसी के करम की जरूरत नहीं है। हमारा भाई खुद अपने भाइयों के वोट से 50 लोकसभा सीटें जीत सकता है। अकबरुद्दीन के बयान पर विवाद भी पैदा हो गया है। भाजपा ने उनके बयान की निंदा की है। पार्टी नेता नलिन कोहली ने कहा कि भारत एक सेकुलर देश है।

ये हर धर्म के लोगों का देश है लेकिन अकबरुद्दीन मुसलमानों को भड़काने का काम कर रहे हैं। साथ ही ओवैसी के बयान पर हरियाणा के मंत्री अनिज विज ने कहा, ”ओवैसी के हिन्दू-मस्लिम के नाम पर बांटने के खेल का नतीजा नहीं पता है, उन्हें सभी को समरसता के साथ रहने देना चाहिए।”