पी-नोट्स निवेश अक्तूबर महीने में बढ़कर हुआ 1.31 लाख करोड़


market

भारतीय प्रतिभूति बाजार में पार्टिसिपेटरी नोट यानी पी-नोट्स के माध्यम से होने वाला निवेश अक्तूबर अंत में बढ़कर 1.31 लाख करोड़ पर पहुंच गया है। पिछले महीने पी-नोट्स के जरिए निवेश आठ साल के निचले स्तर पर पहुंच गया था।

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के आंकड़े के मुताबिक भारतीय बाजारों (आईटी , ऋण पत्र और डेरिवेटिव्स बाजार) में पी-नोट्स निवेश का कुल मूल्य अक्तूबर अंत में बढ़कर 1,31,006 करोड़ रुपये पहुंच गया, जो कि सिंतबर महीने के अंत में 1,22,684 करोड़ रुपये था।

अक्तूबर में हुए कुल निवेश में, आईटी में पी-नोट्स की हिस्सेदारी 90,161 करोड़ रुपये और बाकी हिस्सेदारी ऋण पत्र और डेरिवेटिव्स बाजार की है। इसके अतिरिक्त, पी-नोट्स के जरिए एफपीआई निवेश 4.1 प्रतिशत पर अपरिवर्तित बनी हुई है। सभी की ओर से कड़े नियमों को लागू किए जाने के बाद से पी-नोट्स निवेश में जून से गिरावट देखी जा रही थी।

और सितंबर महीने में यह आठ साल के निचले स्तर पर आ गया था। उल्लेखनीय है कि पी-नोट्स, भारत में पंजीकृत विदेशी पोर्टफोलिया निवेशकों द्वारा उनके वैश्विक निवेशकों के लिए जारी किया जाता है जो खुद भारत में पंजीकृत हुए बिना ही भारतीय प्रतिभूति बाजार में निवेश करना चाहते हैं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।