कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि लोगों की दिलचस्पी विभिन्न शहरों का नाम बदलने में नहीं है बल्कि वे रोजगार, आय की सुरक्षा, महिलाओं की सुरक्षा जैसी चीजें चाहते हैं। उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के इलाहाबाद और फैजाबाद का नाम बदलकर क्रमश: प्रयागराज और अयोध्या करने को लेकर एक सवाल के जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा, “जब मानसिकता इतिहास को तोड़ने मरोड़ने और उसको फिर से लिखने में है तो नाम बदलना कोई मायने नहीं रखता।” उन्होंने कहा कि बेहतरी के लिए लोगों की जिंदगी बदलना ज्यादा महत्वपूर्ण है।

शर्मा ने कहा, “लोगों को नामों में दिलचस्पी नहीं है, देश के नौजवान रोजगार चाहते हैं, किसान आय की सुरक्षा चाहते हैं, माताएं और बेटियों को सुरक्षा की जरूरत है, लोग बढ़ती कीमतों और महंगाई के बोझ से दबे हुए हैं।” शर्मा ने कहा, “अगर इन चीजों से सभी समस्याओं का समाधान होने जा रहा है तो प्रधानमंत्री को हमारा नाम भी बदलने का अधिकार है। इस तरह का संवाद कभी नहीं देखा।”

अखिलेश यादव ने मोदी सरकार पर लगाया आरोप , कहा – रोजगार के बजाय युवा ठोकर खाने पर मजबूर