गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में दोपहर तक मतदान ने पकड़ी रफ्तार , योगी ने किया दावा ,कहा- यूपी में क्यों खिलेगा कमल


yogi vote

उत्तर प्रदेश की दो लोकसभा गोरखपुर व फूलपुर सीट पर रविवार (11 मार्च) को सुबह 8 बजे से वोटिंग शुरू हो गई है। उत्तर प्रदेश की बेहद महत्वपूर्ण मानी जाने वाली गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव में दोपहर में एक बजे तक मतदान ने रफ्तार पकड़ ली है। दिन में एक बजे तक गोरखपुर में 30.20 प्रतिशत मतदान हो गया। सभी जगह कड़ी सुरक्षा में शांति पूर्वक मतदान हो रहा है।

उधर , फूलपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए आज हो रहे मतदान में दोपहर एक बजे तक औसत 19.2 प्रतिशत मत पड़े हैं। फूलपुर संसदीय सीट पर हो रहे उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस, समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन समेत कुल 22 प्रत्याशी मैदान में हैं। पांच विधानसभा क्षेत्रों वाले इस संसदीय क्षेत्र में करीब 19.63 लाख मतदाता हैं।

अभी तक सबसे अधिक 25.3 प्रतिशत मतदान फूलपुर विधानसभा क्षेत्र में दर्ज किया गया, जबकि फाफामऊ में 22 प्रतिशत, सोरांव में 19.8 प्रतिशत, इलाहाबाद पश्चिम में 19 प्रतिशत और इलाहाबाद उत्तर में 10 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया।

फूलपुर लोकसभा के अंतर्गत कुल पांच विधानसभा क्षेत्रों में 2,155 बूथों पर मतदान हो रहा है। जिला के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सुहास एल.वाई के मुताबिक, इस चुनाव के लिए 10 सुपर जोनल मजिस्ट्रेट, 20 जोनल मजिस्ट्रेट और 152 सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गई है।

वही ,गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और फूलपुर में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मतदान के बाद अपनी पार्टी के दोनों उम्मीदवारों की जीत के दावे किये ।

गौरतलब है कि गोरखपुर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के और फूलपुर से उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफा देकर विधान परिषद के लिये चुने जाने के कारण इन दोनों सीटो पर लोकसभा उप चुनाव हो रहे हैं ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के एक प्राथमिक स्कूल में मतदान करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा, ” जनता का अपार समर्थन भारतीय जनता पार्टी को मिल रहा है, जनता भी इस बात को जानती है कि प्रधानमंत्री मोदी ने विकास और सुशासन का जो मंत्र दिया है इसी में उसका कल्याण निहित है । सपा, बसपा की नकारात्मक राजनीति है, सौदेबाजी की राजनीति है, अवसरवादी राजनीति है । प्रदेश इसके दुष्परिणामों को भुगत चुका है और आने वाले समय में इस प्रकार की कोई स्थितियां पैदा न हो इसके लिये पूरी प्रतिबद्धता के साथ वंशवाद व जातिवाद की राजनीति से उबर कर विकास और प्रशासन पर ही ध्यान देना चाहिये । ”

उनसे जब पूछा गया कि सपा और बसपा मिलकर चुनाव लड़ रहे है और अगर यह दोनों पार्टियां 2019 का चुनाव साथ मिलकर लड़ें तो। इस पर योगी ने कहा, ” कोई असर नही पड़ने वाला, मैं तो चाहता था कि यह उप चुनाव सपा बसपा और कांग्रेस साथ मिलकर लड़ते तो और अच्छा परिणाम आता ।”

उधर फूलपुर में मतदान करने के बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी अपने प्रत्याशी की जीत का दावा किया और कहा कि भाजपा को भारी समर्थन मिल रहा है । उन्होंने कहा, “ 14 तारीख को जब नतीजे आएंगे तो हो सकता है कि बुआ और भतीजे को गहरा सदमा लगे। सपा बसपा के नेता साथ आए हैं, जनता साथ नहीं आई है। इसलिए भाजपा बड़े अंतर से जीत रही है।”

जार्ज टाउन स्थित गोल्डन जुबली स्कूल में सुबह सात बजे मतदान करने पहुंचे सपा प्रत्याशी नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने कहा कि जनता अखिलेश यादव के पिछले कार्यों को देखते हुए हमारे पक्ष में वोट करेगी। अब हमें मायावती का भी आशीर्वाद प्राप्त है और निश्चित ही समाजवादी पार्टी की जीत होगी। बसपा के समर्थन से हम भारी मतों से जीतेंगे।

वही ,कांग्रेस प्रत्याशी मनीष मिश्र ने सुबह आठ बजे फूलपुर विधानसभा के जमुनीपुर स्थित प्राइमरी पाठशाला में बूथ संख्या 386 पर मतदान किया।

देश के प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की कर्मभूमि फूलपुर लोकसभा का यह तीसरा उप चुनाव है। उनके निधन के बाद 1964 में इस सीट पर पहला उपचुनाव हुआ और उनकी बहन विजयलक्ष्मी पंडित ने कांग्रेस से जीत दर्ज की।

इसके बाद विजयलक्ष्मी पंडित के 1969 में संयुक्त राष्ट्र में प्रतिनिधि बनने के बाद इस्तीफा देने से रिक्त हुई सीट पर दोबारा उपचुनाव हुआ और तब कांग्रेस ने केशव देव मालवीय को मैदान में उतारा। हालांकि वह संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार जनेश्वर मिश्र से हार गए थे।

उल्लेखनीय है कि फूलपुर का चुनावी इतिहास इस बात का साक्षी है कि इस सीट पर निर्दलीय और छोटे दलों के प्रत्याशियों को जीत तो हासिल नहीं होती लेकिन वे मजबूत उम्मीदवार के वोट बैंक में सेंध लगा देते हैं जिससे परिणाम ही पलट जाता है।

वही ,गोरखपुर सीट पर 10 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे है जबकि फूलपुर सीट पर 22 प्रत्याशी चुनाव मैदान में है । भाजपा ने फूलपुर से कौशलेंद्र सिंह पटेल और गोरखपुर से उपेंद्र दत्त शुक्ला को मैदान में उतारा है । वहीं सपा ने प्रवीण निषाद को गोरखपुर से और नागेंद्र सिंह पटेल को फूलपुर से अपना प्रत्याशी बनाया है । जबकि कांग्रेस ने सुरीथा करीम को गोरखपुर से और मनीष मिश्रा को फूलपुर से प्रत्याशी बनाया है । इन दोनों उप चुनाव में अभी तक शांतिपूर्वक मतदान होने की खबर है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।