जगराओं डकैती मामले में 4 गिरफ्तार


लुधियाना-जगराओं : जगराओं के प्रमुख व्यापारी जतिंद्र बेरी और उसकी लड़कियों को काबू करके बीते दिनों 20 लाख रूपए की हुई डकैती के मामले में सफलता हासिल करते हुए पंजाब पुलिस ने इस वारदात में शामिल 4 शख्सों को गिरफतार किया है। इस मामले का खुलासा पंजाब पुलिस के आईजी अर्पित शुक्ला ने जगराओं में मीडिया से बातचीत करते हुए किया।

जानकारी के मुताबिक जगराओं के कच्चा मलक रोड पर जतिंद्र बेरी पुत्र राम रछपाल बेरी निवासी कच्चा मलक रोड के घर उनकी 15 वर्ष की बेटी महिक और 10 वर्ष की बेटी हिमानी को दिन दिहाडे कोठी में घुसकर पांच जून को की गई 20 लाख रुपए की डकैती के संबध में मंगलवार को आईजी जालंधर जोन अर्पित शुकला , डीआईजी लुधियाना यूरेंद्र हेयर व एसएसपी सुरजीत सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में खुलासा करते हुए दावा किया कि डकैती करने वाले दस में से चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

गिरफ्तार किए गए मनिंद्रदीप सिंह उर्फ लवली निवासी भिंडर कलां जिला मोगा, मनी सिंह निवासी मुहल्ला अजीत नगर जगराओं, वरिंद्र सिंह निवासी नजदीक चुंगी नंबर पांच जगराओं को सोमवार रात को सूचना के आधार पर पुलिस पार्टी ने अलीगढ के नजदीक राजा ढाबा से गिरफ्तार किया गया और लखा उर्फ गोरा निवासी कोठे खंजूरां जगराओं को मंगलवार सुबह बस अड्डे के नजदीक से गिरफ्तार किया गया।

Source

इन लोगों से लूटे गए पैसों में से चार लाख नगदी, लूट के पैसों से खरीद किया हुआ 68000 रुपए कीमत का एक मोबाइल फोन और एक मोबाइल फोन 18000 रुपए की कीमत का खरीद किया हुआ बरामद किए गए। इसके अलावा डाके के समय उपयोग किए गए नंबर पीबी 29-टी-5790 और पीबी 10 एफवाई-2135 के दो मोटरसाइकिल तथा एक दात्र बरामद किए गए हैं। इस मामले में नाम•ाद अन्य आरोपियों की पहचान पुलिस पूरी तरह से कर चुकी है और बाकी के छह आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की जा रही है। पकडे गए आरोपियों से पूछ ताछ के लिए अदालत ेमं पेश कर तीन दिन का पुलिस रिमांड हासिल किया गया है।

Source

डकैती करने के बाद मोगा में  जाकर ठहरे-जगराओं में डकैती करने वाले दस आरोपियों में से अधिकतर जिला मोगा और बरनाला जिले से संबधत हैं। सीआईए स्टाफ के प्रभारी लखवीर सिंह ने बताया कि डकैती करने की योजना इन्होने मोगा के जीरा रोड पर किराये पर लिए हुए घर में बैठकर बनाई और घटना को अंजाम देने के बाद भी यह लोग सीधे मोगा उसी मकान में जाकर ठहरे। डकैती की योजना बना कर इन्होने जगराओं के आस-पास के अपने साथियों से पहले कुछ दिन रैकी करवाई और योजना पूरी सफल समझ कर इन्होने पांच जून को डकैती की वारदात को अंजाम दे दिया। जिन आरोपियों ने डकैती की घटना को सीधे तौर पर अंजाम दिया उनमें सभी लोग मोगा और बरनाला जिले के हैं। जो बाकी अन्य आरोपी हैं उन्हें मौके पर आस-पास की गलियों में नजर रखने के लिए तायनात किया गया था।

– सुनीलराय कामरेड