मोगा रोड़ पर घटित हुआ एक और भयानक हादसा


लुधियाना-मोगा : भयानक सड़क हादसे में एक महिला की मौत हो गई। यह हादसा उसी रास्ते पर हुआ जहां रक्षाबंधन के दिन पहले ही चार नौजवानों की सड़क पर कार-ट्रक हादसे में मौत हो गई थी। उधर चारों मृतक नौजवानों की कोटइसेखां की शमशान भूमि में एक साथ चिताएं जली, जिससे समस्त इलाके के रहने वाले लोगों में शोक सी लहर है।

जानकारी अनुसार आज मंगलवार को कोटइसेखां की ही रहने वाली हरजीत कौर पत्नी कीकर सिंह प्रतिदिन अपने कस्बे से चार कि.मी. दूृर गुरूद्वारा नानकसर ठाठ मसीता में नतमस्तक होने जाती थी कि आज मंगलवार को माथा टेकने उपरांत जब वह सड़क पर आई तो उस वक्त उसने घर जाने के लिए एक स्कूटर सवार से लिफट ले ली, अभी वह थोड़ी दूर ही पहुंंची थी कि प्राइवेट स्कूल की तेज रफतार बस ने स्कूटर को टक्कर मार दी, जिससे हरजीत कौर की मौके पर ही मौत हो गई जबकि स्कूटर चालक प्रीतम सिंह जख्मी हो गया।

उधर रक्षाबंधन के दिन 6 और 7 की सुबह अढ़ाई बजे मोगा में रहती बहन से दोस्तों के साथ राखी बंधवाने के लिए निकले सागर दीप खुराना व अन्य तीनों नौजवानों की सड़क दुर्घटना में मौत के पश्चात पोस्टमार्टम होते ही स्थानीय कोटइसेखां की शमशान भूमि में शाम 6 बजे आज दाह संस्कार कर दिया गया।

जानकारी अनुसार मृतक सागर दीप खुराना अपने पीछे एक बेटी और विधवा के अलावा एक भाई, दो बहनें और मां-बाप को छाड़ गया है जबकि मृतक दोस्तों में जगमीत सिंह लवली गोद लिया बेटा था, वह भी अपने बुजुर्ग मां-बाप समेत चार बहनों को अलविदा कर गया है। इसी प्रकार भूपिंद्र सिंह बींदा मां बाप को और गुरप्रीत सिंह अपनी दो बेटियों और पत्नी को अकेला छोड़ गया है। जिस वक्त चारों का एक साथ दाह संस्कार किया जा रहा था, तो सभी के परिवारिक रिश्तेदारों को संभालने वाला कोई ना था। हर उपस्थित शख्स की आंखों में अश्रुधारा थी।

– सुनीलराय कामरेड