सरकारी माल पर करता था ऐश, नशीले पदार्थ निकालकर कमाए करोड़ों


लुधियाना: फाजिलका पुलिस ने पकड़ा एक और इंद्रजीत जो पुलिस में रहते हुए अपने ही माल खाने से माल चुराकर चोरी करता था जो जिला फाजिलका के सभी एनडीपीएस के मामलों में रखे हुए माल को अपनी बनाई हुई नकली चाबी से चोरी कर माल खाने से नशीले पदार्थ हीरोइन अफीम बगैरा चोरी करके निकाल लेता था लेकिन पुलिस की तीसरी आंख कहलाने वाले सीसीटीवी कैमरे में कैद होने के बाद उसके इस कारनामें का पर्दाफाश हुआ है जो लंबे समय से एनडीपीएस के मामलों में आए हुए नशीले पदार्थों को चुराकर आगे बेच देता था इसके खिलाफ 1 – 4 – 2017 को मामला दर्ज किया गया था जिसको आज फाजिल्का पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया गया है जहां इस रिमांड के दौरान उससे और भी कई अहम खुलासे होने की संभावना जताई जा रही है।

कहते हैं कि जिस खेत को वाड ही खाने लगे उस खेत का तो भगवान ही रखवाला होता है ये कहावत जो ठीक फाजिल्का के मालखाने के इंचार्ज इंस्पेक्टर मेजर सिंह पर सटीक बैठती है जो पिछले लंबे समय से अपनी इस नियुक्ति का फायदा उठाकर अपने ही माल खाने से नशीले पदार्थों को चोरी कर गायब करने लगा था जहां इस हाईप्रोफाइल मामले में इस इंस्पेक्टर द्वारा अपनी जमानत के लिए जिला सतर और हाईकोर्ट से जमानत लगाई गई थी लेकिन इन दोनों अदालतों द्वारा इसकी जमानत को रिजेक्ट कर दिया गया है जिसके बाद इस इंस्पेक्टर ने अब अपनी बेल करवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर की गई है जिस का फैसला आना अभी बाकी है।

जहाँ इस मामले की जानकारी देते जिला फाजिल्का के एसएसपी डॉक्टर केतन बलीराम पाटिल ने बताया कि पकड़ा गया मेजर सिंह पुलिस में रहकर ही लम्बे समय से नशा तस्करी का काम करता था यह सब इंस्पेक्टर जो पहले सीआईए स्टाफ में इंचार्ज रह चुका है और पिछले डेढ़ साल से जिला फाजिल्का के मालखाने में इंचार्ज था लेकिन मेजर सिंह सब इंस्पेक्टर पर 1 अप्रैल 2017 में थाना अरनीवाला के मुंशी सुरजीत सिंह और दो और आदमियों पर मामला दर्ज किया गया था जिसके चलते थाने का मुंशी और दूसरे दोनों आदमी मौके पर गिरफ्तार कर लिए गए थे और मेजर सिंह सब इंस्पेक्टर तभी से फरार चल रहा था।

– सुनीलराय कामरेड