24 घंटे में पुलिस ने सुलझाया ब्लाइंड मर्डर


लुधियाना : पुलिस कमिश्नरेट लुधियाना पुरानी माधोपुरी में एक अधेड महिला की संदिगध हालात में हुई मौत पर खुलासा करते हुए महिला की हत्या के आरोप में उसके दो बेटों को गिरफतार किया है। बेटों द्वारा अपनी मां की हत्या करने के पीछे का कारण मां की प्रापर्टी को हथियाना व उसे किसी अन्य व्यक्ति से शादी करने से रोकना था। इस संबंधी थाना डिवीजन नंबर तीन के प्रभारी संजीव कपूर ने बडी ही मुस्तैदी से 24 घंटे में केस को हल करते हुए आरोपियों को गिरफ्तारी कर लिया है।

इस संबंधी पत्रकारों को जानकारी देते हुए पुलिस कमिश्नर आरएन ढोके ने बताया कि पुलिस के पास मृतका की बेटी गगनदीप कौर ने कंट्रोल रूम पर फोन आया कि उसकी 55 वर्षीय मां अमरजीत कौर निवासी न्यू माधोपुरी का शव उसके घर में लटकी हुई अवस्था में किचन से मिला है। सूचना मिलने पर एडीसीपी रत्न सिंह बराड, एसीपी मंदीप सिंह संधू, थाना तीन के प्रभारी संजीव कपूर पुलिस पार्टी व डाग स्कवायड टीम के साथ पहुंचे तथा जांच शुरू की। मौके पर गगनदीप कौर ने बताया कि वह पांच भाई-बहन है तथा सभी शादीशुदा है।

उसके पिता हरभजन सिंह ने 2003 में मौत हो चुकी है। मेरी मां अमरजीत कौर अपने छोटे बेटे समरजीत सिंह के साथ न्यू माधोपुरी में रहती थी। उसकी मां ग्रांउड फलोर व बेटा अपनी पत्नी मुस्कान के साथ घर की दूसरी मंजिल पर रहता है। मुस्कान के साथ उसकी लव मैरीज है। पहली मंजिल पर 15-20 मजदूर किराये पर रहते है। सोमवार को उसके भाई समरजीत का फोन आया कि उनकी मां को अज्ञात लोगों ने रस्सी से गला घोंट कर रसोई की कुंडी से बांधकर लटकाया हुआ है। मौके पर उसने देखा कि उसकी मां की मौत हो चुकी है। जिस पर उसने पुलिस को सूचित किया।

पुलिस कमिश्रर के अनुसार मौके पर की गई जांच के दौरान पता चला कि मृतका का अपने बेटों समरजीत व संदीप सैणी के साथ प्रापर्टी को लेकर विवाद चल रहा है। समरजीत कई बार अपनी मां के साथ मारपीट कर चुका है तथा प्रापर्टी उनके नाम करने के लिए कहता रहता है। जिसके बाद पुलिस ने हत्या का केस दर्ज करके जांच और तेज की और थाना प्रभारी संजीव कपूर ने सीसीटीवी फुटेज निकलवाकर पारिवार मैंबरों से शिनाखत करवाई तो वह उसका भाई संदीप सैणी था।

जिस पर पारिवारिक मैंबरों ने आशंका व्यक्त की कि संदीप व समरजीत ने ही प्रापर्टी व बैंक बैलेंस के लिए अपनी मां की हत्या की है। जिस पर पुलिस ने संदीप व समरजीत को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने अपनी जूर्म कबूल कर लिया तथा पूछताछ में बताया कि उसकी मां उन्हें प्रापर्टी नहीं दे रही थी तथा वह उनकी बहनों को देना चाहती थी।

मृतका अमरजीत साथी डॉट काम के जरिये लोगों को शादी करवाने का झांसा देकर ठगती थी। जिसके कारण उस पर विभिन्न केस भी दर्ज थे। अमरजीत कौर किसी अन्य व्यक्ति से शादी करवाना चाहती थी। जिस पर हम दोनों को एतराज था। प्रापर्टी हथियाने व मां द्वारा एक और शादी करवाने से रोकने की खातिर उन्होंने ही उसकी हत्या कर दी।

– सुनीलराय कामरेड