चंडीगढ़ पुलिस को जांच के लिए खुली छूट दी जाए


amrinder singh

चंडीगड़: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने वर्णिका कुंडू का पीछा कर परेशान करने के मामले में चंडीगढ़ पुलिस को जांच करने में खुला हाथ देने की मांग करते हुये कहा कि पुलिस पर दवाब बनाने का प्रयास ना किया जाए। किसानों का ऋण माफ करने के मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मुलाकात करने से पहले संसद भवन के पत्रकारों से बातचीत करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले की पड़ताल के लिए पुलिस को स्वतंत्र ढंग से काम करने देना चाहिए। कैप्टन अमरिंदर ने कहा कि इस घटना के कसूरवारों जिनमें हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष का पुत्र भी शामिल है, खिलाफ आरोप घटाने का प्रयास नही करना चाहिए।

उन्होने कहा कि इस मामले में किसी प्रकार की सियासी दखलअंदाजी सहन ना की जाए और कानून अनुसार इस मामले की जांच निरपेक्ष ढंग से करने के लिए पुलिस सक्षम अथारटी होनी चाहिए। एक प्रश्र के उत्तर में मुख्यमंत्री ने इस मामले में नेैतिक आधार पर केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के त्यागपत्र की मांग कोरदद करते हुये फ जूल बताया। उन्होने कहा कि इस मामले में या पंजाब सहित देश के किसी भी हिस्से में ऐसे गैर जिम्मेवाराना रवैये वाले मामले में व्यक्तिगत या पार्टी नेता या उनके बच्चे की शमूलियत हो, तो इसके लिए राजनाथ सिंह को कैसे जिम्मेवार ठहराया जा सकता है।

इस घटना की कठोर शब्दों में निंदा करते हुये कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि हालंाकि कि युवती के लिए न्याय विश्वसनीय बनाने के लिए आरोपियों विरूद्ध कार्यवाही के लिए कदम उठाने की आवश्यकता है पंरतु साथ ही इस बात का कठोर संदेश दिया जाए कि सियासी पद का दुरूपयोग द्वारा पुलिस सहित किसी संस्था की छवि को क्षति पहुंचाने के प्रयास को सहन नही किया जाएगा।

(उमा शर्मा)