पुलिस ट्रैफिक नियम याद दिलाने पर चंडीगढ़ के हैड कांस्टेबल ने युवक को जड़ा थप्पड़ , पुलिसकर्मी सस्पेंड


वैसे तो सड़क पर पुलिस ट्रैफिक नियम तोड़ने पर लोगों का चालान काटते नजर आ जाती है। लेकिन अक्सर देखा जाता है कि खुद कानून के रखवाले ही इन नियमों को तोड़ देते हैं कुछ ऐसा ही जब दो युवकों के सामने आया तो उन्होंने तुरंत इसका वीडियो बनाना शुरू कर दिया। तो पुलिस वाले ने उसे थप्पड़ रसीद कर दिया।

बता दे कि इसे कहते हैं वर्दी का रौब झाड़ना। पुलिस के एक हेड कांस्टेबल ने यातायात नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ाई और जब कोई राहगीर उसकी हरकत का वीडियो बना रहा था तो पुलिस वाले ने उसे थप्पड़ मारा ।

युवक ने मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया, जो देखते ही देखते वायरल हो गया। शहरवासियों ने चंडीगढ़ पुलिस को जमकर खरीखोटी सुनाई। वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोगों ने चंडीगढ़ पुलिस के ट्विटर अकाउंट में इसे अपलोड कर यूटी पुलिस से जवाब मांग डाला। कांसल निवासी सुमित ने इसकी शिकायत एसएसपी ट्रैफिक एंड सिक्योरिटी को दी। एसएसपी शशांक आनंद ने शिकायत मिलने के बाद हेड कांस्टेबल सुरेंद्र कुमार को निलंबित कर ड्राइविंग के दौरान मोबाइल फोन पर बात करने के तहत चालान काट दिया। साथ ही हेड कांस्टेबल का तीन महीने के लिए लाइसेंस भी सस्पेंड कर दिया गया है।

आपको बता दे कि घटना शुक्रवार शाम की है। सुमित कुमार सेक्टर-9 डीपीआइ ऑफिस से अपने घर की तरफ जा रहा था। उसी दौरान सेक्टर-36,37 की डिवाइडिंग रोड पर हेड कांस्टेबल सुरिंद्र सिंह बाइक चलाते हुए मोबाइल पर बातें कर रहा था। सुमित ने बताया कि उसने हेड कांस्टेबल को कहा कि अगर पुलिस ही ऐसे नियम तोड़ेगी तो आम लोग क्या करेगी। इतना सुनते ही हेड कांस्टेबल भड़क गया और उसने सुमित को थप्पड़ जड़ दिया। इस पूरी घटना का उसने वीडियो भी बना लिया था।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने यह वीडियो पोस्ट करके चंडीगढ़ पुलिस के डीजीपी को ट्वीट करके कहा कि डीजीपी तेजिंद्र लूथरा जी। अगर यह वीडियो सही है तो संबंधित पुलिस कर्मी को सस्पेंड किया जाना चाहिए।