जालंधर के होटल इंडस्ट्रीज GST के साथ


जालंधर : राज्य की होटल एंड रेस्टोरेंट इंडस्ट्रीज पूरे देश में एक कर के रास्ते पर चलने के लिए सरकार के साथ तैयार है। जीएसटी लागू होने में अभी कुछ  घंटे बाकी हैं, लेकिन पंजाब के लगभग 1600 होटल एंड रेस्टोरेंट में से लगभग 50 प्रतिशत होटल अपने बिलिंग काउंटर के कंप्यूटर की री प्रोग्रामिंग जीएसटी की नई दरों के अनुसार कर चुके हैं।

राज्य के किसी होटल में अगर कोई व्यक्ति 30 जून की मध्य रात्रि के बाद कमरा बुक करता है तो उसे जीएसटी के अनुसार ही टैक्स का भुगतान करना पड़ेगा, जो पहले से सस्ता होगा। होटल एंड रेस्टोरेंट इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमरवीर सिंह के अनुसार होटल इंडस्ट्रीज जीएसटी के लिए पूरी तरह तैयार हैं। जीएसटी को लेकर एसोसिएशन स्तर पर पहले भी सेमिनार हो चुका है।

प्रदेश अध्यक्ष अमरवीर सिंह ने स्पष्ट किया कि 30 मई की रात को होटल एवं रेस्टोरेंट बंद नहीं होंगे, कंप्यूटर की प्रोग्रामिंग पहले ही हो चुकी है, आम तौर पर रेस्टोरेंट रात को 10-10.30 बजे तक बंद हो जाते हैं। रूम बुकिंग 12 बजे से पहले होने पर टैक्स वर्तमान दर के अनुसार लगेगा अगर कोई व्यक्ति 12 बजे के बाद आता है तो फिर दर जीएसटी के अनुसार ही होगी। अब तक रेस्टोरेंट में विभिन्न टैक्स व सर्विस टैक्स मिलाकर 20.20 प्रतिशत से लेकर 27 प्रतिशत तक टैक्स लगता था। जीएसटी में एसी रेस्टोरेंट में 12 फीसद, नॉन एसी रेस्टोरेंट व ढाबा पर 5 प्रतिशत टैक्स होगा। एक हजार रुपये तक के रूम रेंट पर कोई टैक्स नहीं होगा, 1 हजार से 2500 रुपये तक के कमरे पर 12 फीसद, 2501 से 7500 रुपये प्रति दिन किराए पर 28 फीसद टैक्स लगेगा।

 -अश्विनी ठाकुर