इंटरनेशनल सिख यूथ फैडरेशन संगठन के 2 आतंकी गिरफ्तार


लुधियाना: जिला शहीद भगत सिंह की पुलिस द्वारा पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से संबंधित इंटरनेशनल सिख यूथ फैडरेशन आतंकी संगठन के दो समर्थकों को गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के मुताबिक दोनों आतंकियों को गिरफतार करने पर एक पिस्तौल, जिंदा कारतूस भी बरामद हुए है। उल्लेखनीय है इससे पहले भी पंजाब पुलिस ने इस संगठन के 3 आतंकियों को गिरफतार किया है। पत्रकारों को जानकारी देते हुए पंजाब पुलिस के इंवेस्टीगेशन विंग के डीएसपी हरविंद्र सिंह, डीएसपी गुरप्रीत सिंह और सीआईए के इंचार्ज इंस्पेक्टर सुरिंद्र चांद ने बताया कि आईजी इंटेलीजेंसी के हुकमों उपरांत और एसएसपी सतिंद्र सिंह द्वारा की गई मुहिम के तहत पुलिस ने गुरजीत सिंह उर्फ गगू पुत्र सरविंद्र सिंह, निवासी वडाला ग्रंथियां, जिला गुरदासपुर और गुरमुख सिंह पुत्र सुखविंद्र सिंह निवासी तलवंडी नाहर को नवांशहर के अंतर्गत गांव बहरामपुर से गिरफतार किया है।

पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार नौजवानों का संबंध इंटरनेशनल सिख फैडरेशन से संबंधित है। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने इनसे 9एमएम की रिवाल्वर भी बरामद की है। दोनों आतंकियों को पुलिस द्वारा अदालत में पेश करके 9 दिन का पुलिस रिमांड हासिल कर लिया गया है। दोनों के खिलाफ गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल होने के आरोपों के तहत आईपीसीकी अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस के मुताबिक गुरजीत सिंह के खिलाफ पहले भी कई मामले दर्ज है। पुलिस के मुताबिक गिरफतार गुरजीत सिंह का पिछोड़क र भी आपराधिक प्रवृत्ति का रहा है।

उसको शिवसेना के आगु पर हमले की साजिश के दोष में भी गिरफतार किया गया था, जिसके तहत वर्ष 2015 में धारा 307 के तहत और आम्र्स एक्ट मामला दर्ज है। जबकि साल 2013 में गुरजीत सिंह द्वारा अपने समेत पुलिस चौकी कलांनोर के अंतर्गत गांव बटियां में एटीएम मशीन को तोडऩे की भी कोशिश की गई थी। सूत्रों के मुताबिक यह भी पता चला है कि गुरजीत सिंह ने उक्त आपराधिक गतिविधियों के लिए कनाडा में रह रहे मलकीत सिंह उर्फ फौजी से आर्थिक मदद भी हासिल की थी। सूत्रों का यह भी कहना था कि गुप्त सूचना के आधार पर इसे रेलवे स्टेशन से पकड़ा गया। यह इस क्षेत्र में किसी खतरनाक घटना को अंजाम देने की फिराक में रेकी कर रहे थे।

– सुनीलराय कामरेड