आप्रेशन ब्लू स्टार बरसी : खालिस्तानी समर्थक माहौल बिगाड़ने की फिराक में


लुधियाना-अमृतसर  : राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के प्रधान सुखबीर सिंह बादल ने 6 जून को आप्रेशन ब्लू स्टार की बरसी पर गड़बड़ी की आशंका जताई है। उनका दावा है कि शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी और शिरोमणि अकाली दल इस दिन को अमन-अमान के साथ मनाना चाहते है किंतु कांग्रेस की शह पर नकली सरबत खालसा के मनोनीत जत्थेदार माहौल को खराब करने पर तुले है। सुखबीर के मुताबिक श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार द्वारा इस दिन कौम के नाम संदेश दिए जाने कर परंपरा है लेकिन कुछ लोग इस परंपरा को बाहुबल की ताकत से बदलना चाहते है।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर इस दिन माहौल बिगड़ा तो इसकी जिम्मेदारी पंजाब की कांग्रेस सरकार पर होंगी। उधर एसजीपीसी के प्रधान प्रो. कृपाल सिंह बडूंगर ने पूरा जोर लगा रखा है कि 6 जून का दिवस शांतिपूर्वक गुजर जाएं। ऐसा शायद पहली बार हो रहा है कि कमेटी के प्रधान ने 6 जून के समागम समारोह संबंधी अलग-अलग सिख जत्थेबंदियों के प्रतिनिधियों के साथ व्यक्तिगत तौर पर मुलाकातें की है। प्रो. बडूंगर पिछले 3 हफतों के दौरान मान दल समेत अलग-अलग गर्मदली जत्थेबंदियों के साथ मुलाकात करके इस दिवस को शांतिपूर्वक मनाने की अपील कर चुके है। इस दरमियान प्रो. बडूंगर ने सरबत खालसा द्वारा नियुक्त जत्थेदारों से भी लुधियाना में मुलाकात की है। इस दिवस से संबंधित सबसे अहम कार्यवाही श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार द्वारा कौम को दिए जाने वाला संदेश होता है।

वर्ष 2015 में सरबत खालसा द्वारा अलग-अलग सिख तख्तों के जत्थेदार नियुक्त किए जाने के बाद सिंह साहिबान को लेकर सिख भाईचारा दोफाड़ है। भारी संख्या में सिख सरबत खालसा के जत्थेदारों को सिंह साहिबान के रूप में परवान करते है जबकि एसजीपीसी श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार के रूप में ज्ञानी गुरबचन सिंह को मान्यता देती है। बहरहाल सूत्रों के मुताबिक कुछ सिख जत्थेबंदियों ने श्री हरिमंदिर साहिब द्वारा संदेश पढ़े जाने की सलाह भी दी है परंतु ज्ञानी गुरबचन सिंह इससे सहमत नहीं दिखाई देते। अब देखना यह होगा कि मंगलवार की सुबह श्री अकाल तख्त साहिब से सिख कौम के लिए संदेश कौन देंगा? जिक्रयोग है कि आप्रेशन ब्लू स्टार की 33वी वर्षगांठ को लेकर 15 अद्र्धसैनिक बलों की कंपनियां तैनात हुई है जिनमूें से 8 कंपनियां अमृतसर जिले में तैनात की गई है।

श्री हरिमंदिर के चारों तरफ घरों की छतों पर भी पुलिस का पहरा बैठा दिया गया है। दरबार साहिब में आने-जाने वाले हर व्यक्तित का रिकार्ड पुलिस सहेज रही है। श्री हरिमंदिर साहब की चारों तरफ ऊंची इमारतों से पुलिस दूरबीन के जरिए नजर रख रही है। वही चारों तरफ नाकें लगा दिए गए है। ब्लू स्टार की बरसी को लेकर 5 जिलों के रबी 4500 पुलिस कर्मचारी डयूटी में तैनात है वही सीआरपीएफ और रैपीटेक्शन एक्शन फोर्स की भी तैनाती हुई है। श्री हरिमंदिर साहिब के चारों तरफ चाक चौबंद पुख्ता इंतजाम किए गए है वही दरबार साहिब के अंदर सादी वर्दी में गुप्तचर एजेंसियां, पुलिस कमांडो और एसजीपीसी की टास्क फोर्स नजर बनाए है। पुलिस के आला अधिकारी अमृतसर में डेरा डाले है।

– सुनीलराय कामरेड