लुधियाना के उद्यमी ने ऐसा खेल रचाया , बीवी बच्चों को मारे गोली फिर की खुदकुशी


लुधियाना : पंजाब के महानगर लुधियाना में आज सुबह-सवेरे उस समय हाहाकार मच गई जब लुधियाना प्रसिद्ध उद्योगपति जगमीतपाल सिंह खुराना उर्फ टिवकल उर्फ राजा ने अपने हंसते-खेलते पूरे परिवार को गोलियां मारकर खत्म कर दिया। उसके बाद स्वयं भी आत्महत्या कर ली। इस वारदात में उद्यमी, उसकी बीवी और बेटे की मौत हो गई जबकि गंभीर हालत में जख्मी 14 वर्षीय बेटी को डीएमसी अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है, जहां उसकी हालत डाक्टरों ने गंभीर बताई है। हादसे की सूचना पाकर संपर्क पुलिस स्टेशन समेत उच्च अधिकारी और पुलिस कमीश्रर आरके ढोका भी पहुंचे। फिलहाल पुलिस मामले की तह तक जाने में जुटी हुई है जबकि मृतक उद्योगपति की मां सदमे में होने के कारण कुछ बताने में असमर्थ बताई जा रही है। यह भी पता चला है कि सिविल अस्पताल में देर शाम पोस्टमार्टम के वक्त मृतक कारोबारी की बुजुर्ग मां ने पुलिस को अपने बयान में आशंका जताई है कि उसके बेटे ने यह दुस्वहिक कदम अपने 4 कारोबारी सांझीदारों द्वारा कथित रूप से तंग  किए जाने के कारण मानसिक रूप से परेशानी में उठाया है।

जानकारी के मुताबिक घटना सुबह 10 बजे के करीब की बताई जा रही है। शहर के पॉश इलाके मॉडल टाउन एक्सटेंशन में कुछ व्यक्तिगत व व्यापारी कारणों से मृतक परेशान था और उसका परिवारिक सदस्यों के साथ मामला तू-तू-मैं-मैं से बढ़कर एक हद तक बढ़ चुका था, जो इस घटना के अंजाम तक पहुंचा। तीन हत्याओं की सूचना पाकर सारे शहर में सनसनी फैल गई और बड़ी संख्या में मीडिया कर्मियों के साथ-साथ मृतक के परिवारिक सदस्य, रिश्तेदार और जान-पहचान वाले पहुंचने लगे। हालांकि दबी जुबान में सभी लोग इस घटना की निंदा कर रहे है, किंतु सभी हैरान और परेशान भी है, यह घटना कब और क्यों घटी? फिलहाल पुलिस ने इलाके को घेरकर जांच शुरू की है। पुलिस कमीश्रर के मुताबिक घटना के सही कारणों का अभी जल्दबाजी में बता पाना मुश्किल है। उन्हें मृतक की बेहोश बेटी के होश में आने का इंतजार है, जिससे सारे घटनाक्रम के कारणों का पता चल सकेंगा।

पुलिस के मुताबिक उन्हें सूचना सुबह 11 बजे के आसपास मिली कि मॉडल टाउन एक्सटेंशन के कोठी न. 55-56बी में खुराना निवास पर गोलियां चली है, मौके पर पुलिस ने जाकर देखा की घर के 45 वर्षीय मालिक जगमीतपाल सिंह खुराना, 41 वर्षीय पत्नी जसप्रीत कौर और 19 वर्षीय बेटे जश्नदीप सिंह समेत 14 वर्षीय बेटी बिसमीन खून से लथपथ पड़ी है। सूत्रों के मुताबिक जिस वक्त पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़कर अंदर दाखिल हुए तो जगमीत, जसमीत और जश्रदीप की मौत हो चुकी थी जबकि बिसमीन बेहोशी की हालत में जमीं पर पड़ी थी। पुलिस के मुताबिक यह घटना कोठी के ऊपरी हिस्से में स्थित जिस कमरे में घटित हुई है, उस कमरे का दरवाजा बंद था जबकि मृतक जगमीत की मां महिंद्रकौर नीचे रहती थी, फिलहाल वह सदमे में है और परिवार समेत अन्य सदस्यों, आसपास के लोगों, यार-दोस्तों से की गई बातचीत के आधार पर पुलिस तफतीश में जुटी है। पुलिस को घटना स्थल से 32 बोर की रिवाल्वर भी बरामद हुई है। इस दौरान फोरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची है। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है।

यह भी पता चला है महानगर में अच्छी खासी फैक्टरी है तथा फैला हुआ कारोबार है। मृतक का शहर के फोकल प्वाइंट में शाहरू स्टील और मिलरगंज स्थित गिल रोड़ पर जीके आर्यन स्टोर है, जिससे अच्छी-खासी आमदन थी जो रईसों की जिंदगी व्यतीत करने में काफी थी। पुलिस के मुताबिक जगमीत सिंह की गोलियों की आवाज सुनकर ड्राइवर और घर का माली ऊपर पहुंचे लेकिन कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। दोनों ने हथोड़ों से खिड़की का शीशा तोड़ा और दरवाजा खोलकर अंदर गए, जमीं पर चारों तरफ खून ही खून बिखरा था। दोनों ने मृतक के रिश्तेदारों ओर मुहल्ले के लोगों को घटना के बारे में चिल्ला कर बताया। यह भी पता चला है कि पुलिस ने घटना स्थल से कुछ गोलियां बरामद हुई है जो घटनाक्रम के बारे में काफी कुछ बयां कर रही है। फिलहाल पुलिस कई पहलुओं पर जांच करने में जुटी है कि यह घटना किन परिस्थितियों में घटित हुई। कही किसी अन्य व्यक्ति का हाथ तो नहीं।

– सुनीलराय कामरेड