सुसाइड नोट में माता-पिता से मांगी माफी


लुधियाना-कपूरथला :  ये मामला कपूरथला के लक्ष्मी नगर का है जहां बीती देर रात कपूरथला के लक्ष्मी नगर स्थित एक प्रवासी मजदूर ने अपने परिवार के अन्य 5 लोगों को जहर देकर मार दिया। दिल दहला देने वाली इस घटना में खुदकुशी करने वाले सभी संगे भाई-बहन है। इन्होंने आर्थिक हालात में तंगी के कारण अपने मां-बाप को राहत देने के लिए जहर खाकर जीवन लीला समाप्त की गई है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक उक्त नौजवान ने बर्गर के अंदर कोई जहरीला पदार्थ डालकर अपने परिवार के सभी सदस्यों को मौत के घाट उतार दिया। जबकि उसका एक नजदीकि रिश्तेदार पूरा बर्गर न खाने के कारण बच गया, जोकि इलाज के लिए स्थानीय सिविल अस्पताल में दाखिल है। इलाके के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर जतिंदरजीत सिंह के अनुसार मृतक अभिमन्यु कुमार जोकि अपने ही इलाके में किराये का मकान लेकर नाई का काम करता था।

मृतक अभिमन्यु की जेब से खुदकुशी का पत्र भी प्राप्त हुआ है, जिसमें उसे अपने माता पिता से खुदकुशी करने व मासूम भाई बहनों को मारने संबंधी माफी भी मांगी है।  जबकि इस घटना को अंजाम देने के कारणों का कहीं भी उल्लेख नहीं हुआ। मृतकों में 21 वर्षीय मनू, आठरह वर्षीय अनु, पंद्रह वर्षीय अंशु, बारह वर्षीय अनुराग, व आठरह साल की आंचल शामिल है। इनमें तीन की मौत सिविल अस्पताल में हुई है। जबकि दो की मौत सिविल अस्पताल जालंधर में इलाज दौरान हुई।

सूत्रों के मुताबिक इस हादसे में 5 साल की एक अन्य बच्ची को भी जहर खिलाने का प्रयास किया गया पर वह डरकर अपनी मां के पास चली गई। यह भी पता चला है कि बर्गर खाने के बाद सभी भाई-बहन उल्टियां करने लगे और आसपास के लोगों ने शोर सुनकर अस्पताल ले जाया गया, जहां 5 लोगों की मौत हुई है।

मृतक बच्चों की मां रीटा के मुताबिक यह घटना रात साढ़े दस बजे के करीब घटित हुई, जब वह अपने कमरे में सो रही थी। बच्चियों की चीख पुकार सुनकर वह बाहर आई। फिलहाल पुलिस ने जहर वाली शीशी को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है और लाशों का पंचनामा करके सिविल अस्पताल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

– सुनीलराय कामरेड