जेटली से मिलने जा रहे प्रवीण डंग को पुलिस ने सर्कट हाउस में किया नजरबंद


लुधियाना  : पिछले तीन बर्षों से विधु को इन्साफ दिलाने के लिए विधु के माता पिता इन्साफ के लिए संघर्ष कर रहे है और इसमें श्री हिन्दू न्याय पीठ के मुख्य प्रवक्ता प्रवीण डंग इन्साफ के लिए उनका पूर्ण सहयोग कर रहे है और इस संघर्ष के चलते अमृतसर से लेकर दिल्ली तक इन्साफ यात्रा भी निकाली गयी थी जिसमें भाजपा के कुछ नेताओं ने इस आश्वासन के साथ यात्रा को विराम दिलाया था कि वह विधु को तीन महीनो के अंदर इन्साफ दिलाएंगे और वकायदा दिल्ली में प्रधानमंत्री कार्यालय में मंत्री से मिलवाया गया था यहां पीडित माता पिता ने इन्साफ की गुहार लगाई थी।

परन्तु तीन साल व्यतीत हो जाने पर भी विधु को इन्साफ नहीं मिला और देश के वित्त मंत्री अरुण जेतली के लुधियाना दौरे पर विधु के पिता नवनीत जैन और माता आरती जैन ने श्री हिन्दू न्याय पीठ के प्रवक्ता प्रवीण डंग के सहयोग से इन्साफ की मांग को लेकर मांग पत्र देने का निर्णय किया परन्तु कुछ भाजपा नेताओं की मिलीभगत के कारण उनको सर्कट हाउस में जेतली के साथ मिलने का झूठा आश्वासन देकर उनको साथी योगेश धीमान,जगद्दीश मानक,सुमित जयसवाल व् अन्य साथियों सहित सर्कट हाउस में नजरबंद किया गया अंदेशा होने पर उन्होंने विधू जैन के पिता नवनीत जैन, माता आरती जैन व भतीजे अमित जैन को खाना खाने का बहाना बना कर कार्यक्रम स्थल पर भेज दिया जहां अमित जैन ने बताया कि भाजपा के जिला प्रधान रविंदर अरोडा ने उन्हें रोकने की कोशिश की गई लेकिन विधू जैन की माता आरती जैन व अमित जैन स्टेज पर अरूण जेतली से मिलने में सफल हो गए तथा उन्हें विधू जैन हत्याकांड की पूरी जानकारी दी तथा इंसाफ की मांग करते हुए एक मेमोरंडम भी सौंपा। पत्रकारों को बताते हुए प्रवीण डंग ने कहा कि विधु जैन के इन्साफ के लिए केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र और साक्षी महाराज से अपील की गयी थी।

उन्होंने कहा कि श्री हिन्दू न्याय पीठ पीडित परिवार को लेकर इन्साफ के हर वो दरवाजा खटखटा चुकी है यहां से इन्साफ की उम्मीद होती है परन्तु ऐसा प्रतीत होता है कि भाजपा को सिर्फ वहीं के हिन्दुओ की चिंता है यहां भविष्य में उन्होंने सरकार बनानी है। उन्होंने कहा कि भाजपा का यह दोगलापन हिन्दुओं को उत्पीडन कर रहा है। प्रवक्ता प्रवीण डंग ने कहा की अगर विधु जैन को इन्साफ नहीं मिला तो विधु की पुण्यतिथि पर इन्साफ यात्रा फिर से आरंभ की जाएगी।

– सुनीलराय कामरेड