STF ने हेरोइन और हथियारों के साथ पंजाब पुलिस के हवलदार को किया गिरफ्तार


लुधियाना-मोगा : खाकी वर्दी में छुपे भेडिय़ों को दबोचने के लिए एसटीएफ ने नशों के विरूद्ध छेड़ी गई मुहिम को तेज करते हुए आज पंजाब पुलिस के एक और हवलदार को हेरोइन और हथियारों के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। जबकि दूसरी तरफ इसी मुहिम के एसटीएफ ने जालंधर में पिछले दिनों सीआईए इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह को गिरफ्तार किया था, उसके एक सहयोगी एएसआई अजायब सिंह धोना को नौकरी से बरखासत कर दिया गया है, इस बात की पुष्टि भी एसएसपी संदीप शर्मा ने की। उल्लेखनीय है कि इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह से बड़ी मात्रा में हथियारों का जखीरा, नशीले पदार्थो का भंडार और नाजायज करंसी प्राप्त हुई थी। आज नशे के कामकाज को मौजूदा कांग्रेस सरकार द्वारा बनाई गई एसटीएफ ने मोगा जिला के धर्मकोट क्षेत्र में खकी वर्दीधारी हवलदार को दबोचा है।

जानकारी के मुताबिक धर्मकोट के गांव कन्नियाकलां के रहने वाले हवलदार सुरजीत सिंह जो खाकी वर्दी की आड़ में नशा और हथियारों की तस्करी करता था। एसटीएफ को जब इस बारे में पक्की सूचना प्राप्त हुई तो उसने जांच के उपरांत छापा मारकर दबोच लिया। एसटीएफ की टीम ने आरोपी हवालदार सुरजीत सिंह के पास 250 ग्राम हेरोइन बरामद की है, इसके अलावा उसके पास एक एकेएस-47 राइफल की एक मैगजीन, एसएलआर की 3 मैगजीन, स्टेनगन का एक मैगजीन, कौरबन की दो मैगजीन, एक मैगजीन 7.62 एमएम और 62 जिंदा कारतूस भी मिले है। हैड कांस्टेबल ने यह समस्त हथियारों का जखीरा और हेरोइन गांव दनूवाल के नजदीक एक बरसाती नाले के पास छुपाकर रखा हुआ था। पुलिस ने आरोपी हैंडकांस्टेबल के खिलाफ मामला दर्ज करके हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ जारी है।

सूत्रों के मुताबिक एसटीएफ द्वारा इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह से कड़ाई से की गई पूछताछ के बाद कई रहस्य जानने में कामयाबी हासिल हुई है। हालांकि एसटीएफ की टीम पहले 3 दिनों में कोई अधिक जानकारी हासिल नहीं कर पाई। लेकिन इंद्रजीत सिंह से अमृतसर स्थित उसके घर से बरामद हथियार और प्रापर्टी को कागजात मिलने के बाद कई खुलासे हुए है।

Source

उसी के मुताबिक इस मामले में कई खाकीधारी अफसरों का काबू में आना तय है। इससे पहले भी इंद्रजीत के मामले में 2 उच्च अधिकारियों के नाम सामने आए है। इस मामले को लेकर एसटीएफ के चीफ हरप्रीत सिंह संधू का कहना है कि मामले की जांच चल रही है। यह मामला कहां तक जाकर रूकेगा और इसके तार किन लोगों से जुड़े है, उसकी तह तक जाया जाएंगा। इंद्रजीत के पाकिस्तानी नशा तस्करों से संबंधों के सवाल पर सिद्धू ने कहा कि फिलहाल जांच जारी है।

सूत्रों के मुताबिक 2 दर्जन के करीब ऐसी जमीन जायदादों की जानकारी पुलिस को मिली है और 50 से ज्यादा ऐसी जायदादों की पड़ताल सामने आई है, जिसमें इंद्रजीत सिंह का नाम जुड़ा है। एसटीएफ की टीम सभी प्रापर्टी के कागजातों की जांच सरकारी दस्तावेजों के साथ कर रही है कि पहले यह प्रापर्टी किसके नाम थी और इंद्रजीत का नाम इसमें कैसे जुड़ा। फिलहाल बहुत जल्द बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।

– सुनीलराय कामरेड