हेमकुंड साहिब के बारे में सोशल मीडिया पर झूठी अफवाहों से सचेत रहें संगत


लुधियाना: सिखों की सर्वोच्च स्थल हेमकुंड साहिब के बारे में सोशल मीडिया पर कुप्रचार के चलते उत्तराखंड स्थित गुरूद्वारा जोशीमठ के प्रबंधक स. बूटा सिंह ने इन अफवाहों को गुमराह करने वाला बताते हुए खंडन किया है। उन्होंने कहा कि 25 मई से शुरू हुई यह यात्रा पूरी तरह सुरक्षित और पूरे प्रबंधों के अधीन सफलतापूर्वक चल रही है। इन खबरों का खंडन मैनेजर सेवा सिंह ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लाइव होकर किया है। जिक्रयोग है कि उत्तराखंड स्थित हेमकुंड साहिब में हजारों के करीब संगत के फंसे होने की चर्चाएं चल रही थी और सड़के टूटने का प्रचार करके लोगों को इस यात्रा पर ना आने का संदेश दिया जा रहा था।

सोशल मीडिया में कुदरती आपदाओं का जिक्र करते हुए भारी वर्षा और पहाड़ों के टूटने का हवाला देकर संगत के फंसे होने की भ्रमित सूचना प्रसारित की जा रही थी। हालांकि पूरा सिख पंथ हेमकुंड साहिब के रास्ते में फंसी संगत की चढ़दी कला के लिए पाठ करवा रहे है। प्रबंधक सेवा सिंह ने यह भी कहा कि अब तक हेमकुंड साहिब में 1 लाख 70 हजार से ज्यादा श्रद्धालु यात्रा कर चुके है। उन्होंने कहा कि यात्रा की विरोधता करने वालों की शरारत है जो संगत को आने से रोकने को मादा है। उन्होंने अपील की कि किसी भी ऐसी गुमराह करने वाले संदेशों को लोग सोशल मीडिया पर आगे शेयर ना करें। उन्होंने कहा कि अगर भविष्य में ऐसा कुछ संदेश मिलता है ।

– सुनीलराय कामरेड