अपने ही परिवार पर पेट्रोल फेंककर लगाई आग खुद भी नहर में कूदकर की खुदखुशी


लुधियाना-पठानकोट  : पंजाब के पठानकोट इलाके में स्थित सुजानपुर ग्रामीण के गांव सोली-भोली में एक शख्स द्वारा अपने ही बेटे, बहू और पौत्री पर पैट्रोल डालकर आग लगाने पश्चात एक वर्षीय पौत्री के मौत हो जाने की खबर प्राप्त हुई है। जिसके बाद घटना को अंजाम देने वाले इस शख्स ने आज दोपहर इलाके के साथ लगती नहर में कूदकर आत्महत्या कर ली है, जिसकी लाश भी पुलिस ने बरामद की है। जानकारी के अनुसार कथित आरोपी का पुत्र-बहू और नन्ही पौत्री रात को अपने कमरे में सोए हुए थे।

बहू के मुताबिक रात को 11 बजे के पश्चात उसके ससुर ने उन तीनों पर पैट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। जिस कारण तीनों को गंभीर अवस्था में अस्पताल ले जाया गया, जहंा नन्ही पौत्री की मौत हो गई जबकि आरोपी का बेटा गंभीर हालत में, जिसे डाक्टरों ने अमृतसर के अस्पताल में रैफर कर दिया था, उसकी भी मौत हो जाने की पुष्टि हुई है। थाना प्रमुख हरकृष्ण के मुताबिक इलाज के दौरान गंभीर हालात में जली एक वर्षीय नन्ही बच्ची मनकीरत पुत्री सेवा सिंह की मौत हो गई। जबकि यह भी पता चला है कि मनकीरत के पिता सेवा सिंह भी अपने जख्मों की पीड़ा ना सहते हुए मौत की आगोश में चले गए।

जख्मी हालात में मनकीरत की मां बलजीत कौर के मुताबिक उनके पति सेवा सिंह पुत्र मनजीत सिंह ने एक ट्रेक्टर किश्तों पर लिया हुआ था और वह समय पर उसकी किश्तें भी अदा कर रहे थे लेकिन उनका ससुर मनजीत सिंह उनसे ट्रेक्टर की मांग कर रहा था, जिसके चलते बीती रात जब वह अपने पति के साथ खाना खानो पश्चात सो रही थी तो उसके ससुर मनजीत सिंह अपने साथी वासन सिंह के साथ हाथ में पैट्रोल से भरा डिब्बा लेकर आएं और उनपर पैट्रोल फेंकते हुए अचानक आग लगा दी, जिससे मैं, मेरा पति और मेरी बच्ची बुरी तरह झुलस गए।

शोर मचने उपरांत मोहल्ले के लोगों ने उन्हें सिविल अस्पताल पठानकोट पहुंचाया है। थाना पुलिस प्रमुख के मुताबिक आरोपी मनजीत सिंह मौके से फरार हो गया था। उन्होंने यह भी कहा कि दोपहर बाद प्राप्त सूचना अनुसार मनजीत सिंह ने नहर में छलांग मारकर आत्महत्या कर ली है। जिसके बाद पुलिस द्वारा आरोपी की लाश यूबीडी पॉवर हाउस नहर से बरामद हुई है। जिसके चलते पुलिस ने अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज करके लाश को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भेज दिया है।

– सुनीलराय कामरेड