भाजपा की सोच राष्ट्रवादी है, पर आप की अलगाववादी


चंडीगढ़ : पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता व आम आदमी पार्टी के भुल्तथ से विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने लुधियाना में पास्टर सुल्तान मसीह की हत्या के पीछे आर.एस.एस., विश्व हिन्दू परिषद व भाजपा का हाथ हो सकने के जो आरोप लगाए हैं, वह तथ्य विहीन और बेबुनियादी आरोप है तथा जिसकी हम सख्त शब्दों में निंदा करते हैं। यह कहना है भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष हरजीत सिंह ग्रेवाल व प्रदेश सचिव विनीत जोशी का जो कि आज चंडीगढ़ में पत्रकार वार्ता कर आम आदमी पार्टी के आरोपों का जवाब दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि भाजपा की सोच राष्ट्रवादी है, पर आम आदमी पार्टी की सोच अलगाववादी है। नवनिर्वाचित विपक्ष के नेता सुखपाल खैहरा द्वारा मास्टर मसीह की हत्या का आरोप आर.एस.एस., वी.एच.पी. व भाजपा पर लगाकर स्वयं अपना मजाक उड़वाया है। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सभी धर्मों का सम्मान करने वाला एक राष्ट्रीय संगठन है जिसके नेताओं ने देश के लिए कई शहादतें दी हैं। ताजा उदाहरण आर.एस.एस. पंजाब प्रांत के सह-प्रांत संघचालक जगदीश गगनेजा पिछले साल शहीद होना है।

हैरानी की बात है कि चाहे जगदीश गगनेजा की हत्या हो, चाहे माता चंद कौर की, चाहे अमित शर्मा की, चाहे दुर्गा गुप्ता, चाहे सतपाल व रमेश की तथा अंत में 15 जुलाई को पादरी सुल्तान मसीह की, इन सभी में एक तरीके से ही कार्रवाई को अंजाम दिया गया। इस पृष्ठ भूमि में खैहरा द्वारा इस तरह के आरोप लगाना दिमागी दीवालियापन का निशाना है। ग्रेवाल व जोशी ने खैहरा को चुनौती देते हुए कहा कि या तो पास्टर मसीह की हत्या में आर.एस.एस., वीएचपी व भाजपा का हाथ होने के तथ्य पुलिस को दें या फिर माफी मांगे। ग्रेवाल व जोशी ने खैहरा को याद करवाया कि आर.एस.एस. व भाजपा का इतिहास शहादतों का रहा है और अगर हम सिर्फ पंजाब की बात करें, तो लुधियाना के पास मोगा में 25 जून 1989 को उग्रवादियों द्वारा आर.एस.एस. की शाखा पर किए गए हमले में 27 स्वयंसेवक शहीद हो गए थे।

इसी तरह भाजपा पंजाब के सैंकड़ों नेताओं व कार्यकर्ताओं ने शहादत दी है, जिसमें पंजाब भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबू हित्ताभिलाषी, पटियाला से शंभू प्रसाद, अमृतसर से हरबंस लाल खन्ना, कादियां से रामप्रकाश प्रभाकर, जैतों से गुरबचन सिंह पतंगा व डा. धर्मवीर सिंह भाटिया, लुधियाना के खुशीराम शर्मा, प्रकाश चंद दुआ व तरसेम सिंह बहार प्रमुख हैं व इसके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष स्व. डा. बलदेव प्रकाश व वर्तमान में भाजपा के राष्ट्रीय परिषद के सदस्य डा. बलदेव चावला पर कई आतंकी हमले हुए।

– अनूप कुमार