संदिग्ध हालत में खेतों से मिला युवक का शव


मृतक अमनदीप सिंह का फाइल फोटो।

लुधियाना- जगराओं : पिछले दिनों 15 जून को गांव खानपुर के खेत से युवक का संदिग्ध हालत में शव बरामद हुआ और उस शव के नजदीक गुमराह करने के लिए उसके पास नशे का इंजेक्शन पडा हुआ है। सूचना मिलने पर पुलिस ने वहां से उसके मोबाइल फोन से फोन कर उसके घर में सूचना दी तो उसके घर वाले मौके पर पहुंचे। उनकी मौजूदगी में शव कब्जे में लिया और उसके परिजनों के बयान पर धारा 174 की कार्रवाई कर काम खत्म कर दिया।

अपने साले अमनदीप सिंह पुत्र तरलोक सिंह निवासी न्यू शिमलापुरी नजदीक पुरानी पुलिस चौकी रोड लुधियाना की संदिग्ध हालत में हुई मौत के संबध में जब विजय कुमार निवासी बनारस यूपी को पता लगा तो वह बनारस से लुधियाना पहुंचा। उसने घर से पूछ ताछ की तो सामने आया कि 15 जून की शाम को अमनदीप सिंह का शव यहां था वहीं उसके पास नशे का इंजेक्शन पडा हुआ है।

यही बात शक्क का कारन बनी क्योंकि विजय कुमार अभी कुछ दिन पहले की उसके पास कई दिन ठहरा था और उस समय दौरान अमनदीप सिंह ने कभी भी किसी किसम का नशा नहीं किया।

कॉल डिटेल और सीसीटीवी फुटेज ने खोला राज-शक्क होने पर जीजा विजय कुमार शंकर ने अमनदीप सिंह (जोकि आईसीआईसीआई बैंक में रिकवरी पैनल में कर्मचारी था, उसका काम लोगों से लोन के पैसे इक्कठे करना था) की मोबाइल कॉल डिटेल निकलवाई तो उसमें घर से निकलने से पहले अमनदीप ने अपने दोस्त पाली से बात की हुई है। अमनदीप की पतनी ने बताया कि उसने पाली से कुछ पैसे लेने थे उसी को लेकर दोनों में सुबह बहस हो रही थी। उसके बाद उन्होने पाली के घर से उसके शव के स्थान तक के रास्ते में सभी जगह लगे हुए सीसीटीवी कैमरे की फुटेज हासिल की।

जिसमें इशर नगर पुल के नजदीक हासिल की हुई फटेज में आगे मोटरसाइकिल पर पाली जा रहा है और उसके पीछे उसकी स्विफट गाडी जिसमें उसकी मां, भाई आदि बैठे हुए हैं। इसी फुटेज को लेकर उन्होने थाना डेहलों में जानकारी दी और पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरु की। सूत्रों के अनुसार पुलिस ने कथित आरोपी पाली गिल और उसकी मां को हिरासत में ले लिया है और उन्होंने पूछताछ में पूरी वारदात का खुलासा भी कर दिया है। इस संबध थाना डेहलों के प्रभारी से बात की तो उन्होने कहा कि इस मामले की पडताल चल रही है। जल्द ही सारी असलीयत सामने आ जाएगी।

– सुनीलराय कामरेड