छात्र की बेदर्दी से हत्या, टुकड़े कर नहर में फेंका शव


लुधियाना-फिल्लौर: लुधियाना और जालंधर के मध्य सतलुज दरिया के पास शाहपुर में आज सुबह एक युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गई। युवक के पिता हंरबस सिंह ने बताया कि उसका बेटा हनी कल शाम को पशु को चारा डालना के लिये घर से निकला व वापिस नही आया। गांव से कुछ लोगें ने उस आखरी बार किसी से फोन करते सुना। जिसके बाद से उसका कोई पता नही था। रात भर वह अपने साथिये समेत उसके गाँव भर मे ढूढंते रहे। सुबह होते ही गाँव के कई लोग उसको ढूंढने के लिये गाँव के पास बनी नहर के पास पहुचें तो वहां पर खून बिखरा पड़ा था जो धान के खेत के साथ नहर की तरफ जा रहा था। जिसके कुछ दूरी पर एक चप्पल पड़ी थी, जो हंरबस सिहं ने पहचान ली कि यह उसके बेटे हनी की थी व कुछ आगे एक इंसानी कान पड़ा हुआ था, जिसके बाद लोगें को शक हुया कि हनी के साथ कुछ बुरा हुया तो गाँव के कुछ लोग नहर मे घुस कर हनी को ढूंढने लगे।

इसी बीच किसी ने थाना मुखी फिल्लौर रजीव कुमार को फोन पर सूचना दी, जिसके बाद थाना मुखी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे व सतलुज नदी से गोताखोर मंगवा कर उसकी तलाश शुरू कि मौके पर डी एस पी फिल्लौर स गुरमीत सिहं चीमा भी पहुँच गये। आखिरकार चार घंटे बाद गोता खोरा को हनी का शव नहर से मिला जो बुरी तरह से काटा हुया था। उसका कान उसके साथ नही था। उसकी गरदन पर तीखे हथियार से कई बार किये लगते थे, जिसके चलते उसकी गरदन लटक रही थी।

पुलिस ने गोता खोरा की मदद से उसके शव को बाहर निकाला। हनी गयारहवीं क्लास में गाँव के तेंहग में पढ़ता था व उसका पिता फिल्लौर बस स्टैंड पर पैंचर लगा कर घर का गुजारा करते थे। उसकी दो बहनें थी। एक शादी शुदा व एक घर पर थी। उसका बड़ा भाई दबई मे रहता है। उसके पिता ने बताया कि उसकी किसी के साथ कोई रंजिश नही है। पुलिस ने हनी के पिता हंरबस सिहं बयाने के अधार पर अज्ञात लोगें के खिलाफ आई पी सी की धारा 302/201/34 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। डी एस पी ने बताया की हनी की हत्या नहर से कुछ दूरी पर धान के खेत में की गई व शव को घसीट कर नहर के पास लाकर नहर मे फैंकां गया। जिसके सारे निशान मौजुद है। मृतक का फोन भी गायब है।

– बलराज खन्ना