घर से भागा था लापता बच्चा : पंजाब पुलिस


लुधियाना  : थाना लाडोवाल के अंतर्गत आते गांव कपूर सिंह वाला के सरकारी स्कूल के तीन दिन से लापता छठी कक्षा के छात्र लवप्रीत सिंह को पुलिस ने अमृतसर से बरामद करने के बाद आज उसके माता-पिता को सुपुर्द कर दिया। इस मौके पर एडीसीपी सुरेंद्र लांबा, एसीपी रमनदीप सिंह भुल्लर, थाना प्रभारी रविंदर पाल सिंह भी मौजूद थे।

इस मौके माता-पिता व गांव वालों ने बच्चे की सकुशल बरामदगी के पुलिस का आभार व्यक्त किया। उल्लेखनीय है कि बच्चे के लापता होने के तीन दिन बीतने के बावजूद कोई सुराग न लगने के चलते गांव वालों ने थाना लाडोवाल के समक्ष एनएच वन जीटी रोड पर वीरवार को धरना दे दिया था। जिससे करीब पौना घंटा तक नेशनल हाइवे जाम रहा तथा लोगों को भारी परेशानी उठानी पडी। पुलिस के प्रदर्शनकारियों को बच्चे की जल्द बरामदगी करने का भरौसा मिलने के बाद ही धरना उठा था। बाद में पुलिस ने इस केस में कुछ धरनाकारियों पर हाइवे जाम करने का पर्चा भी दर्ज किया।

एडीसीपी सुरिंदर लांबा ने बताया कि असल में बच्चा करनजीत सिंह (12) साल चार जुलाई को सुबह स्कूल गया था लेकिन घर वापस न लौटने पर उसके पिता जसवीन सिंह ने थाना लाडूवाल में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। जिस पर पुलिस ने तुरंत शिकायत दर्ज करके वायरलैस मैसेज कर दिये थे। जिसके बाद पुलिस को सूत्रों के हवाले से बच्चे के अमृतसर होने की सूचना मिली, जिस पर बच्चे को बरामद करने के बाद माता-पिता के सुपुर्द कर दिया गया। प्राथमिक जांच में यह पता चला है कि बच्चा सरकारी हाई स्कूल लाडूवाल का छठी कक्षा का छात्र है तथा स्कूल की छुट्टियों के बाद होमवर्क पूरा न होने के चलते माता-पिता ने उसे डांटा था। बाद में बच्चे को पिता ने पटका खरीदने व अन्य जेब खर्च के लिए दिये थे। जिस पर बच्चा स्कूल जाने के दौरान स्कूल की बजाये लाडवोल रेलवे स्टेशन चला गया।

जहां से टिकट लेकर अमृतसर चला गया। वहां से आटो के जरिये श्री दरबार साहिब में रहा तथा वहां सेवा भी की। बाद में किसी अन्य गुरूद्वारा साहिब में माथा टेकर वापस रेलवे स्टेशन अमृतसर आ गया लेकिन पैसे न होने के कारण फिर श्री दरबार साहिब चला गया तथा वहीं रहा। बच्चा डरा व सहमा होने के कारण फिलहाल अधिक कुछ नहीं बता रहा है। आगे की कार्रवाई उससे पूछताछ के बाद अमल में लाई जाएगी।

– सुनीलराय कामरेड