सिद्धू की कथित गाली के फलस्वरूप सदन की कार्रवाई स्थगित


चंडीगढ़: स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर विधानसभा में गाली देने का आरोप लगाकर शिरोमणि अकाली दल के विधायकों ने शून्यकाल में शोर शराबा करना शुरू कर दिया। जिसके चलते स्पीकर राणा के पी सिंह ने सदन को आधे घंटे के लिए स्थगित कर दिया। यह दूसरा मौका था जब शोर शराबें के कारण सदन को स्थगित करना पड़ा। शिरोमणि अकाली दल के डिप्टी लीडर अजीत सिंह कोहाड ने आरोप लगाते हुए कहा कि सिद्धू ने अपने वक्तव्य में गाली का प्रयोग किया। हालांकि वह यह साबित नही कर पाए कि उन्होंने सिद्धू के मुंह से क्या सुना।

विपक्ष के नेता एच एस फूलका ने भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू ने कोई गाली का प्रयोग नही किया, उन्होंने चोर मचाए शोर जरूर कहा। जिसे बाद में स्पीकर ने कार्रवाई से हटवा दिया। यही शब्द स्पीकर ने दो बार कटवाया। लेकिन सिद्धू नही माने और बार बार चोर मचाए शोर कहते रहे, बाद में अपने सफाई देते हुए सिद्धू ने कहा कि उन्होंने कोई गाली का प्रयोग नही किया। उन्होंने कहा कि वे पढ़े लिखे हैं और इन को गाली नही दे सकते। हालांकि पूरा पंजाब अकाली दल को गाली दे रहा है।  लेकिन अकाली दल के विधायकों ने नारेबाजी करते रहे और कहा कि वे सदन की कार्रवाई नही चलने देगें जब तक सिद्धू माफी नही मांगते। प्रश्नकाल के दौरान बहिष्कार स्वरूप विधायकों ने कोई सवाल नही पूछा।

– उमा शर्मा