7 हजार की रिश्वत लेते वकील को किया गिरफ्तार


bribe riswat

चंडीगढ़ : विजिलैंस ब्यूरो पंजाब द्वारा भ्रष्टाचार विरूद्ध चल रही मुहिम दौरान तहसील कम्पलैक्स बरेटा जिला मानसा में कार्य कर रहे वकील सुरेश कुमार को नायब तहसीलदार और उसके रीडर की तरफ से सात हजार रूपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया गया। इस मामले में विजिलैंस द्वारा तीनों आरोपियों विरूद्ध भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

इस संबंधी जानकारी देते हुए विजिलैंस ब्यूरो पंजाब के प्रवक्ता ने बताया कि तहसील कम्पलैक्स बरेटा में कार्य कर रहे वकील सुरेश कुमार को गुरतेज सिंह, बख्शीवाला, जिला मानसा की शिकायत पर विजिलैंस ब्यूरो द्वारा सात हजार रूपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों काबू किया
गया है।

प्रवक्ता ने बताया कि उक्त शिकायतकर्ता ने विजिलैंस ब्यूरो को अपनी शिकायत में बताया है कि उस द्वारा बरेटा में तैनात नायब तहसीलदार रमेश कुमार के पास जमीन की रजिस्ट्री करवाने के लिए पहुंच की गई।

जिस पश्चात नायब तहसीलदार द्वारा उस के रीडर जसपाल सिंह और वकील सुरेश कुमार ने बताया कि रजिस्ट्री संबंधी दस्तावेज को पूरे करने के लिए संपर्क करने कहा गया। शिकायत कर्ता ने बताया कि रजिस्ट्री संबंधी दस्तावेज को पूरा करने की एवज में रीडर और वकील द्वारा नायब तहसीलदार से सात हजार रूपये की मांग की गई।

विजिलैंस द्वारा आरोपों की पड़ताल के पश्चात उक्त वकील को दो सरकारी गवाहों की उपस्थिति में 7 हजार रूपये सहित काबू कर लिया गया। प्रवक्ता ने बताया कि इस संबधी नायब तहसीलदार रमेश कुमार, रीडर जसपाल सिंह और वकील सुरेश कुमार खिलाफ भ्रष्टाचार नियंत्रण कानून की विभिन्न धाराओं तहत विजिलैंस ब्यूरो के थाना बठिंडा में मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्यवाही आरंभ कर दी गई है।

– उमा शर्मा