आस्ट्रेलिया से आएं प्रतिनिधि मंडल को सच्चखंड श्री हरिमंदिर साहिब में नतमस्तक होने उपरांत शिरोमणि कमेटी ने दिया सम्मान


Sachkhand Shri Harimandir Sahib

लुधियाना-संगरूर : सवा साल पहले आस्ट्रेलिया के ब्रिसबेन शहर में खौफनाक रंगभेद (नस्ली) नफरत की घटना का शिकार हुए पंजाबी नौजवान मनप्रीत आलीशेरा के पारिवारिक सदस्यों के साथ संवेदनाएं बांटने के लिए ब्रिसबेन शहर की सिटी कोंसल की चेयरपर्सन ओजिलां ओवेन लहरागगा के नजदीक गांव आलीशेरा पहुंची। उन्होंने पंजाबी विद्यार्थियों की सुरक्षा का वायदा भी किया।

उनके साथ ब्रिसबेन पंजाबी वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान और सत्ताधारी लिबरल नैशनल पार्टी की जिला प्रधान गुरप्रीत पिंकी सिंह और आरटीसी के चेयरमैन विनरजीत सिंह गोलडी भी थे। इस अवसर पर ओजिलां ने भावुक होकर अलीशेरा के पारिवारिक सदस्यों के साथ दुख बांटा। ओवेन ने कहा कि हर एक को प्यार और सम्मान देने वाला मनमीत अलीशेरा को नस्ली नफरत की हिंसा का शिकार होना मानवता के लिए शर्मसार होने के बराबर है।

ओजिलां ओवेन ने मनप्रीत के कत्ल के बारे में किसी भी प्रकार की टिप्पणी करने से यह कहकर मना कर दिया कि यह मामला अभी आस्ट्रेलिया की अदालत में विचारदीन है। स्मरण रहे कि 28 अक्तूबर 2016 को मनप्रीत अलीशेरा को आस्ट्रेलिया के मूल निवासी ने ज्वलनशील पदार्थ डालकर उस वक्त जिंदा जला दिया था, जिस वक्त अलीशेरा बस के ड्राइवर की डयूटी निभा रहा था।

उन्होंने कहा कि हम उसकी दिलेरी, हंसमुख स्वभाव और मिलनसार व्यवहार को हमेशा याद रखेंगे। उनके साथ आई गुरप्रीत पिंकी सिंह ने भी कहा कि मनमीत अलीशेरा ब्रिसबेन की रूह थी और आज भी हर कोई याद कर रहा है। इस अवसर पर मनमीत के पिता मास्टर रामस्वरूप शर्मा, माता किशना देवी, भाई अमित अली शेरा, एडवोकेट प्रेमपाल अलीशेरा, कलाप्रेमी दर्शन सिंह समेत कुलदीप सिंह भी मौजूद थे। देर शाम सात समुद्र पार से आए हुए ओजिलां ओवेन परिवार के सदस्यों ने अमृतसर स्थित सच्चखंड श्री हरिमंदिर साहिब में उपस्थिति दर्ज करवाके माथा टेका। इस अवसर पर उन्होंने सरबत के भले के लिए अरदास की। शिरोमणि गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी ने दर्शनों के लिए आएं इस प्रतिनिधि मंडल को सच्चखंड श्री हरिमंदिर साहिब का सुनहरी मॉडल, दोशाला और सिरोपा देकर सम्मानित भी किया। इस अवसर पर ओजिला ओवेन ने कहा कि वह सच्चखंड श्री हरिमंदिर साहिब के दर्शन करके स्वयं को खुशकिस्मत वाला महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि उन्हें यहां आकर शांति प्राप्त हुई।

– सुनीलराय कामरेड

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अख़बार।