हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा सत्र


चंडीगढ़: पंजाब विधानसभा में आज शिरोमणि अकाली दल और आम आदमी पार्टी के विधायकों ने जमकर भारी हंगामा करते हुए नारेबाजी की व बार बार वाकआऊट किया जिससे स्पीकर को दो बार सदन को स्थगित करना पड़ा। सत्र शुरू होते ही प्रश्नकाल के साथ ही शिरोमणि अकाली दल के विधायक अजीत सिंह कोहाड खडे हो गए और कहने लगे कि रेत खड्डो में हुए खपले और किसानों की आत्महत्या का मामला उठाना चाहते है इसी के साथ ही उनकी पार्टी के दूसरे विधायक भी खड़े हो गए। उनका साथ भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने दिया। स्पीकर राणा के पी सिंह ने कहा कि प्रश्नकाल के बाद उन्हें बोलने का मौका दिया जाएगा लेकिन अकाली दल के विधायक नारेबाजी करते रहे। इस पर स्पीकर ने सदन को आधे घंटे के लिए स्थगित कर दिया।

 इसके प्रश्चात जब सदन की कार्रवाई फिर से शुरू हुई तो अकाली दल के विधायकों ने फिर नारेबाजी शुरू कर दी। लेकिन प्रश्नकाल चलता रहा। इस के प्रश्चात अकाली दल के विधायक वाक आऊट कर गए। प्रश्नकाल समाप्त होते ही आप विधायकों ने रेत खनन के घपले पर बोलना चाहा तो स्पीकर ने विधायक व विपक्ष के नेता एच एस फूलका को बोलने के लिए कह दिया कि वह स्थगन प्रस्ताव बोले। लेकिन फूलका ने कहा कि विधायक खेहरा महत्वपूर्ण मुद्दों पर बोलना चाहते हैं। लेकिन उन्हें बोलने नही दिया गया। इसके प्रश्चात आप विधायकों के साथ विधायक बैंस ब्रदर्स भी स्पीकर की सीट के सामने नारेबाजी करने लगे। इसी बीच सिमरजीत सिंह बैंस विधायक ने स्पीकर पर कागज फेंकने शुरू कर दिए। स्पीकर ने बार बार चेतावनी के बावजूद भी जब वे नही रूके तो स्पीकर ने सिमरजीत सिंह बैंस को बजट सत्र के पूरे सत्र के लिए निलंबित कर सदन को स्थगित कर दिया।

– उमा शर्मा