कार्यवाहक मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव को निशाना बनाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को आरोप लगाया कि तेलंगाना में बीते चार सालों के दौरान 4,500 किसानों ने खुदकुशी की। उन्होंने यह भी दावा किया कि प्रदेश दो लाख करोड़ के कर्ज में घिरा है।

प्रदेश में सात दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनावों के लिये प्रचार के तहत एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि केसीआर (राव के लिये इस्तेमाल होने वाला चर्चित नाम) ने किसानों और उनकी समस्याओं की अनदेखी की लेकिन जनता के 300 करोड़ रूपये प्रदेश की राजधानी में राजसी बंगले के निर्माण पर किया। वह मुख्यमंत्री आवास ‘‘प्रगति भवन’’ के संदर्भ में बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केसीआर में ‘‘दोस्ती’’ है और राव भाजपा के किसी भी फैसले का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘अब मोदी की मदद करने में केसीआर के साथ एमआईएम भी शामिल हो गई है।’’ उन्होंने इस बारे में और कुछ नहीं कहा।

मोदी और राव ने वादे पूरा न करके लोगों को छला है : राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘राज्य के गठन में तेलंगाना के किसानों ने अहम भूमिका निभाई है। उसी तेलंगाना में बीते चार सालों में 4,500 किसानों ने खुदकुशी की । समर्थन मूल्य की मांग कर रहे किसानों को राज्य में हथकड़ी लगाई गई।’’

गांधी ने कहा, ‘‘केसीआर ने प्रदेश को कर्ज में धकेल दिया। तेलंगाना पर अब दो लाख करोड़ का कर्ज है। तेलंगाना में प्रत्येक परिवार पर 2.60 लाख रूपये का कर्ज है। तेलंगाना के हर नागरिक के सिर पर 60 हजार रूपये का कर्ज बोझ है।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि केसीआर निजामाबाद में हल्दी बोर्ड की स्थापना करने के लिये केंद्र पर दबाव डालने में भी विफल रहे। मोदी और केसीआर को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि दोनों ही नेता परियोजनाओं को ‘रीडिजाइनिंग’ के नाम पर भ्रष्टाचार मे लगे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘केसीआर तेलंगाना में भाजपा का समर्थन कर रहे हैं। भाजपा द्वारा (केंद्र में) जो भी नीतिगत फैसला लिया जाता है, केसीआर उसका समर्थन करते हैं और उसके साथ खड़े रहते हैं।’’

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की और आपकी जेब से रूपये निकालकर उसे नीरव मोदी, ललित मोदी और विजय माल्या व अनिल अंबानी को दे दिया। अब केसीआर के साथ, एमआईएम भी मोदी का समर्थन कर रही है।’’ गांधी ने कहा कि प्रदेश में सत्ता में आते ही एक साल के अंदर एक लाख सरकारी पदों को भरा जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘लोग अब यह महसूस कर रहे हैं कि बीते पांच सालों में मुख्यमंत्री सिर्फ भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।’’इससे पहले निर्मल जिले के भैंसा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि तेलंगाना में अगर उनकी पार्टी सत्ता में आएगी तो किसानों के दो लाख रूपये तक के कृषि कर्ज माफ कर दिये जाएंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ‘‘झूठे वादे’’ करने को लेकर भी निशाना साधा। गांधी ने आरोप लगाया कि राव ने भीमराव आंबेडकर के नाम पर रखी गई परियोजना का नाम बदलकर उनका अपमान किया है।

तेलंगाना राष्ट्र समिति के प्रमुख पर निशाना साधते हुए गांधी ने आरोप लगाया कि उन्होंने परियोजना की डिजाइन बदल दी जिससे इसकी लागत 38 हजार करोड़ से बढ़कर एक लाख करोड़ रूपये हो गई।

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इसे (परियोजना को) एक लाख करोड़ का क्यों बनाया गया? क्योंकि मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार करना चाहते थे।’’ गांधी ने कहा, ‘‘तेलंगाना में परिवर्तन आएगा। केसीआर सरकार जाएगी। और दिल्ली में, नरेंद्र मोदी की सरकार भी जाएगी। मैं यहां झूठे वादे करने नहीं आया हूं। अगर आप झूठे वादे सुनना चाहते हैं तो केसीआर और मोदी के पास जाएं, वे आपसे झूठे वादे करेंगे।’’