पांच लाख का इनामी अपराधी आनंदपाल मुठभेड़ में ढेर


जयपुर : राजस्थान पुलिस और आतंक निरोधक टीम ने संयुक्त कार्रवाई कर बीस माह से फरार पांच लाख का इनामी कुख्यात अपराधी आनंदपाल को कल देर रात ढेर कर दिया। पुलिस और आनंदपाल के बीच चुरू जिले के मालासर गांव में कल रात लगभग साढ़े नौ बजे शुरू हुयी इस मुठभेड़ में पुलिस के एस पी चुरू के गनमेन निरीक्षक सूर्यवीर सिंह सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हुये है जिन्हें उपचार के लिये जयपुर के एसएमएस अस्पताल भेजा गया है।

Source

आनंदपाल के सीने में लगी छह गोलियां, मौके पर ही ढेर
पुलिस महानिदेशक मनोज भट्ट ने बताया कि पुलिस से घिरा देखते ही आनंदपाल ने पुलिस पर अत्याधुनिक हथियारों से गोली बारी शुरू कर दी। आनंदपाल ने पुलिस पर एके 47 से एक सौ राउंड गोलियां चलायी। उन्होंने बताया कि पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुये फायरिंग की जिससे आनंदपाल के सीने में छह गोलियां लगी और वह मौके पर ही ढेर हो गया। पुलिस ने आनंदपाल के पास से दो एके 47 और 400 से अधिक कारतूस बरामद किये है।

श्री भट्ट ने बताया कि एसओजी टीम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव भटनागर ने हरियाणा से विक्की और देवेन्द्र को सिरसा में गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की तो आनंदपाल के चुरू जिले के मालासर में एक किराये के मकान में रहने की जानकारी मिली। इस पर पुलिस और एसओजी टीम ने रात साढ़े नौ बजे मकान की घेराबंदी की। पुलिस की घेराबंदी को देखकर आनंदपाल ने फायरिंग शुरू कर दी जो देर रात साढ़े ज्ञारह बजे उसके खत्म होने पर समाप्त हुयी।

Source

उन्होंने बताया कि पुलिस ने आनंदपाल को पकडऩे के लिये पचास से अधिक कमांडों और भारी संख्या में पुलिस के जवानों ने मकान को घेर लिया था। उल्लेखनीय है कि कुख्यात अपराधी आंनदपाल तीन सितम्बर , 2015 को पुलिस पर फायरिंग करके परबतसर से अपने दो साथियों के साथ फरार हो गया था। पुलिस ने उसके दो साथियों सुभाष और श्रीवल्लभ को पकड़ लिया लेकिन वह पकड़ में नहीं आया था। एसओजी टीम ने एक एक कर उसके सभी साथियों को गिरफ्तार कर लिया। इसके कारण प्रदेश में गेंगवार के खतरे को टाल दिया था।