हादसे के बाद चेता प्रशासन 11 विवाह स्थल सील


जयपुर/आमेर : भरतपुर में हुए दर्दनाक हादसे के बाद जयपुर नगर निगम प्रशासन हरकत में आया है। शहर में चल रहे अवैध मैरिज गार्डन संचालकों के खिलाफ निगम प्रशासन ने शिकंजा कस दिया है। आमेर जोन उपायुक्त कविता चौधरी के निर्देश पर 11 अवैध मैरिज गार्डनों को सील करने की कार्रवाई की। इन मैरिज गार्डनों का निगम प्रशासन के पास कोई रिकॉर्ड तक नहीं है। यानि इस तरह के सैकड़ों की संख्या में मैरिज गार्डन हैं, जो कि शहर में अवैध रूप से संचालित हो रहे हैं।

उपायुक्त ने बताया कि पहली बार इन मैरिज गार्डनों को सील किया है। लोगों ने अपनी खाली जमीनों पर मैरिज गार्डन संचालित कर रखे हैं। शिकायत मिलने पर शुक्रवार को यह कार्रवाई की। इसके अलावा शहर को बदरंग करने वाले 10 कोचिंग संस्थान संचालकों के खिलाफ भी राजस्थान संपत्ति विरूपण अधिनियम के एफआईआर दर्ज करवाई।

इन मैरिज गार्डनों को किया सील
निगम से मिली जानकारी के मुताबिक आमेर स्थित शिवम मैरिज गार्डन, गौरी हाउस विवाह स्थल, जागिरदार मैरिज गार्डन, आमेर बाग गार्डन और जयसिंहपुरा खोर स्थित रतन पैराडाईज, सीताराम बाण्या का फार्म हाउस, भगत मैरिज गार्डन को सील किया। इसके अलावा पुसी मैरिज गार्डन करबला, अजीम मैरिज गार्डन करबला, कलाल मैरिज गार्डन रामगढ़ मोड़ और एस.एल. मैरिज गार्डन जलमहल को भी सील किया।

– महेश शर्मा