GST आर्थिक सुधारों की दिशा में बड़ा कदम : मेघवाल


बीकानेर : केन्द्रीय विथ एवं कम्पनी मामलों के राज्यमंत्री अर्जुन मेघवाल ने कहा है कि GST से व्यापारी वर्ग को भ्रमित नहीं होना चाहिए। देश में बहुत तेजी के साथ व्यवस्थाएं बदल रही है।

अर्जुन मेघवाल ने कल GST को लेकर, विभिन्न व्यापारिक संगठनों के संवाद कार्यक्रम में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने देश में आर्थिक सुधारों की दिशा में बहुत बड़ा कदम उठाया है जिससे सूचना तकनीक का उपयोग करते हुए कर प्रणाली में पारदर्शिता आएगी। रोजगार घटने के बारे में जो भ्रांतियां पैदा की जा रही है,उनका कोई आधार नहीं है। कोई भी सरकार नहीं चाहेगी, कि उसके राज में रोजगार घटे।

उन्होंने कहा कि GST अर्थव्यवस्था के लिए लाभप्रद है। इससे एकीकृत साझा राष्ट्रीय बाजार का निर्माण होगा तथा भारत एक निर्माण हब बनेगा साथ ही निवेश और निर्यात बढ़ेगा। वस्तुओं एवं सेवाओं पर लगने वाले वर्तमान अनेक करों की जगह एक कर से आसानी होगी। व्यापारिक समूह को इससे चिन्तित होने की जरूरत नहीं ।

मेघवाल ने व्यापारियों के GST पंजीकरण और रिटर्न भरने की शंकाओं का निवारण करते हुए कहा कि पंजीकरण, कर भुगतान, Return file करने एवं कर का रिफंड प्राप्त करने के लिए समान प्रक्रिया अपनाई गई है। उन्होंने कहा कि GST के संबंध में जो भी अड़चने आएगी,
उसे दूर किया जायेगा। GST की जानकारी देने एवं समस्याओं का समाधान करने के लिए केन्द्रीय उत्पाद कर के सभी कार्यालयों में GST सुविधा केन्द्रों ने काम करना आरंभ कर दिया है ।

उन्होंने इंस्पेक्टर राज की धारण को गलत बताया और कहा कि इस प्रक्रिया में हयूमन इन्टरफेस कम से कम होगा। प्रारंभ में कानून की जानकारी लेने के लिए इनका सहयोग लिया जा सकेगा। धीरे-धीरे इसकी भी जरूरत नहीं पड़ेगी।

केन्द्रीय विथ राज्यमंत्री ने कहा कि रैक्टीफाइट टाइल, मारबल और ग्रेनाइट के संबंध में विथ मंत्रालय को राजस्थान, तेलंगाना तथा आन्ध, प्रदेश राज्य से पत्र प्राप्त हुए है। संभवत: इन विषयों पर GST कौंसिंल की बैठक में कोई सकारात्मक निर्णय लिया जा सके। उन्होंने बीकानेर के भूजिया-पापड़, बड़ी उद्योग पर कर कम किए जाने के संबंध में इसे केन्द सरकार के ध्यान में लाने का आश्वासन दिया।