हमलावर पैंथर को ग्रामीणों ने मार डाला


डूंगरपुर, (निसं) : शिकार और पानी की तलाश में यहां गांव में घुसे पैंथर ने बुधवार को हमला कर एक दर्जन ग्रामीणों को घायल कर दिया। हमलावर पैंथर को लोगों ने पुलिस और वन अधिकारियों के सामने घेरकर पत्थरों से हमला कर मौत के घाट उतार दिया। घटना बिछिवाड़ा थाना क्षेत्र के पालपादर स्थित रोजेला फला गांव की है।

जानकारी के अनुसार सुबह बोरवेल से कुछ महिलाएं पानी भर रहीं थी। अचानक पैंथर वहां आ गया और उसने महिलाओं पर हमला बोल दिया। इसके बाद पैंथर गांव की ओर चला गया। जहां घर में घुस गया और वहां आंगन में बैठी कुकरी पत्नी नाना मसार और उसके बेटे बसु,बकसी पर हमला कर दिया। घर में अचानक घुसे पैंथर से डरे बकसी ने जैसे-तैसे बाहर निकल कर जान बचाई।

घटना की जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों ने घर को चारों तरफ से घेर लिया। सूचना पर बिछीवाड़ा रेंजर भैरूलाल तंवर और पुलिस टीम मौके पर पहुंची और मामले की गंभीरता को देखते हुए रेस्क्यू टीम बुलाई। रेस्क्यू टीम के शूटर सतनाम सिंह ने पैंथर को ट्रेंकुलाइज करने का प्रयास किया लेकिन मकान की छत से केलू हटाने के दौरान बघेरे ने टीम पर भी हमला बोल दिया,जिससे एक सदस्य भी घायल हो गया। इसी बीच पैंथर छलांग लगाते हुए छत के रास्ते बाहर निकला। बाहर निकले पैंथर पर ग्रामीणों ने  पत्थर फेंकना शुरू कर दिया।

जिससे वह घायल होकर अचेत हो गया। घायल पैंथर को बिछीवाड़ा पशु चिकित्सालय लाया गया जहां उपचार के दौरान दम तोड़ दिया।
पहले भी उतार चुके मौत के घाट ।

उल्लेखनीय है कि करीब 4 वर्ष पूर्व भी सदर थाना क्षेत्र के माथुगामड़ा में भी गांव में घुसी मादा पैंथर की ग्रामीणों ने पत्थर मार कर हत्या कर दी थी।  वहीं हाल में सरिस्का वन्य क्षेत्र में ग्रामीण पर हमला करने पर लोगों ने पैंथर को जलाकर मार दिया था।