दामिनी हुई अनाथ


भरतपुर : ये मामला राजस्थान के भरतपुर जिले है जहां आज से करीब 5 साल पहले सुर्खियों में आई बबलू रिक्शे वाले की बेटी दामिनी (अंकुर) के सिर से पिता का साया उठने से अनाथ हो गई है और उसे कल शिशुगृह भेजा गया है।

लगभग 5 साल पहले साल 2012 में जन्म के समय ही माँ की मृत्यु होने और उसके भरण पोषण के लिए पिता द्वारा कपड़े में सीने से बांध कर रिक्शा चलाने से सुर्खियों में आने वाली दामिनी के परवरिश के लिए दुनिया भर से दुआएं और करीब 23 लाखों रुपए की आर्थिक मदद प्राप्त हुई थी लेकिन अब पिता भी इस दुनिया में नहीं रहने के कारण अनाथ हो गई है।

दामिनी के पिता बबलू की रहस्यमयी ढंग से मंगलवाररात मौत हो गई और भरतपुर के नुमाइश मैदान के पास एक कोठरी में उसका सड़ा गला शव मिला है। बबलू का कोई रिश्तेदार या परिजन नहीं होने की वजह से उसका दाह संस्कार पुलिस ने अपना घर के सहयोग से कराया है और दामिनी को शिशु गृह में रखा गया है।

अबोध बच्ची अपने पिता की मौत की खबर से अनजान शिशुगृह के अन्य बच्चों के साथ भविष्य की चुनौतियों के लिए अपने नसीब से लड़ रही है।