जीएसटी के बारे में चार्टर्ड अकाउन्टेंट को करें जागरूक : वसुंधरा


जयपुर : राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा है कि राज्य के चार्टर्ड अकाउन्टेंट (सीए) को एक जुलाई से लागू होने वाले वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) अधिनियम के बारे में लागों को जागरूक करना चाहिए। श्रीमती राजे आज जयपुर जिले के चाकसू के पास चौसला में द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउन्टेंट्स ऑफ इण्डिया (आईसीएआई) के सेन्टर ऑफ एक्सीलेंस के उद्घाटन समारोह में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि सीए इस नई कर व्यवस्था के बारे में लोगों को समझाने और तकनीकी रूप से दक्ष बनाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए।

वसुंधरा ने  कहा कि जिस प्रकार वैट की नई कर व्यवस्था लागू होने के समय कई आशंकाएं सामने आई थी उसी प्रकार जीएसटी को लेकर भी व्यापारियों में कई भ्रांतियां हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी की नई व्यवस्था को सफलतापूर्वक लागू कराने के लिए सीए लोगों की आशंकाओं को दूर करने का काम बखूबी कर सकते हैं। उन्होंने चौसला में आईसीएआई का देश में दूसरा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित होना प्रदेश के लिए गर्व की बात बताते हुए कहा कि देश में सीए परीक्षाओं में सबसे ज्यादा उत्तीर्ण होने वाले राजस्थान के छात्रों को जहां इसका लाभ मिलेगा वहीं यह सरकारी अधिकारियों के स्किल इम्प्रूवमेंट संबंधी कोर्स चलाने के काम आयेगा।

इस अवसर पर केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि एक जुलाई को सीए दिवस के मौके पर आजादी के बाद देश का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार लागू होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंट जीएसटी के ब्राण्ड एम्बेसेडर बनकर इसे लागू कराने में मदद करें। उन्होंने कहा कि देश को इंटरनेशनल ऑडिटिंग  का हब बनाने में इस सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का बड़ा योगदान रहेगा।