राजस्थान में विवाह स्थलों की जांच होगी, मृतकों के परिजनों को दिए जाएंगे दो…दो लाख रुपये : मुख्यमंत्री


जयपुर : राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भरतपुर के सेवर थाना इलाके में कल रात विवाह स्थल की दीवार ढहने से चौबीस लोगों की मौत और पच्चीस से अधिक लोगों के घायल होने पर गहरा दुख व्यक्त किया है और भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए प्रदेशभर में विवाह स्थलोंं की जांच कराने तथा नियमों की अनदेखी करने वाले विवाह स्थलों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं।

मुख्यमंत्री ने भाजपा की दो दिवसीय चिन्तन बैठक में भाग लेने से पहले संवाददाताओं से यह बात कही। भरतपुर के जिला कलेक्टर एनके गुप्ता ने पीटीआई भाषा को बताया कि पुलिस ने विवाह स्थल के मालिक के खिलाफ भारतीय दंड सहिता की धारा 304 के तहत मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है। पुलिस ने संचालक के भाई को हिरासत में लिया है जबकि विवाह स्थल का संचालक भरत लाल शर्मा फरार हो गया है।

उन्होंने बताया कि हादसे में चौबीस लोगों की मौत हुई है और छब्बीस लोग घायल हुए है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने घटना पर गहरा दुख जताते हुए मृतकोंं के परिजनों को दो…दो लाख रूपये और घायलों को पचास…पचास हजार रुपये देने की घोषणा की है। राजस्थान सरकार की ओर से भी मृतकों के परिजनों को दो…दो लाख रुपये और घायलों को पचास…पचास हजार रुपये की मदद देने तथा घायलों के नि:शुल्क उपचार की घोषणा की है।

भरतपुर के जिला कलेक्टर ने भी कल रात जिला प्रशासन की ओर से हादसे में मारे गये लोगों के आश्रितों को पचास…पचास हजार रऊपये और घायलों को दस…दस हजार रुपये देने की घोषणा की थी।

मुख्यमंत्री के निर्देश पर भरतपुर पहुंचे राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री काली चरण सराफ ने भरतपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती घायलों से मिलकर घटना और अस्पताल में उपचार के बारे में जानकारी प्राप्त की। सराफ ने इस मौके पर संवाददाताओं से कहा कि भरतपुर में विवाह स्थल पर हुए हादसे की जांच के लिए पांच सदस्यीय कमेटी गठित कर एक सप्ताह में जांच रिपोर्ट जिला कलेक्टर को देने के निर्देश दिये गये है।

सराफ ने कहा कि हादसे के बाद भरतपुर के सरकारी अस्पताल में घायलों को मिले उपचार को लेकर मिली शिकायतों के बारे में भी चिकित्सा विभाग की पांच सदस्यीय कमेटी गठित कर एक सप्ताह में जांच करेगी। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त जिला कलेक्टर :शहर: की अध्यक्षता में गठित कमेटी मामले की जांच कर जिला कलेक्टर को एक सप्ताह में रिपोर्ट पेश करेगी।

– भाषा